Monday, 7 August 2017

कविता. 1581 हर बार पत्तों कि हरीयाली।

                                                     हर बार पत्तों कि हरीयाली।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही उम्मीद लाती है जब उम्मीद को हम दोहराते है हम हर बार वह नयी कहानी लाती है जज्बातों कि दास्तान पहचान अलगसी देती है जो जीवन मे मौसम को कुदरत के एहसासों से जोडकर दास्तान अलगसी देती है जो जीवन मे हर मोड को अलग कहानियों कि आवाज देती है जो जीवन मे कुदरत को अलग किस्सों कि पुकार हर पल मे रोशनी को एहसास अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही कहानी लाती है जब आशाओं को उजाले कि समझ रोशनी दे जाती है वह नयी तमन्ना लाती है जो कुदरत के एहसास को अलग पुकार देती है जो जीवन मे अलग पुकार कि समझ देती है जो जीवन मे कदमों को कुदरत कि ताकत देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग एहसास कि पहचान देती है जो जीवन मे हर कुदरत के हिस्से को एहसास अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही तराने लाती है जब किनारों को समझ कि पहचान आशाएं दे जाती है जो जीवन मे कुदरत के लम्हों को अलग तलाश देती है जो जीवन मे हर कदम को अलग एहसास कि आवाज देती है जो जीवन मे हर कुदरत के बदलाव के साथ एहसासों कि दास्तान किनारा अलगसा देती है जो जीवन मे हर मौके के साथ उजाले कि उम्मीदे अलग दिशाओं कि एहसास अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही कहानी लाती है जब उसे सुनते है तो दुनिया कुदरत के एहसास अलगसे देती है जो जीवन मे हर कुदरत के एहसास को रोशनी के संग अलग समझ कि जरुरत देती है जो जीवन मे हर कुदरत के अंदाजों को अलग दास्तानों कि सुबह देती है जो जीवन मे हर कुदरत के एहसास को अलग खुबसूरत कि पहचान देती है जो जीवन मे कुदरत को अलग रोशनी का एहसास अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही जिन्दगी लाती है जब उसे महसूस करते है तो दुनिया कई किनारों को अलग तलाश देती है जो जीवन मे हर किस्से को अलग पुकार कि पहचान देती है जो जीवन मे कदमों को अलग राहे देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग पुकार कि समझ देती है जिसे जीने कि अहमियत हर एहसास कि राह को तलाश देती है जो जीवन मे कुदरत को अलग अंदाज कि पुकार को किनारा अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही पुकार लाती है जब उसे समझकर खुशियों कि सुबह दुनिया देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग रोशनी देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग पहचान देती है जो जीवन मे कुदरत को अलग किनारों से पहचान कि नयी कहानी देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग तराने देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग अल्फाजों के एहसास कि तलाश को इशारा अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही दास्तान लाती है जब उसे पहचान लेते है तो खुशियों कि सुबह कुछ अलग एहसास देती है जो कहानी बार बार कहने कि जरुरत हर पल के साथ अक्सर उजाले देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग पुकार कि पहचान देती है जो हर कुदरत के एहसास को अलग ख्वाबों कि दास्तान देती है जो जीवन मे अलग एहसास को अलग रोशनी से भरा आसमान हर बार अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही शुरुआत लाती है जब उसे महसूस कर लेते है तो दुनिया कि नयी राह जीवन मे नये सुबह के कदमों का एहसास देती है जो जीवन मे हर पल को अलग पुकार कि आवाज देती है जो जीवन मे हर कुदरत के किस्से को अलग किरणों कि उम्मीदे हर बार देती है जो जीवन मे कुदरत को अलग समझ कि सोच देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग परख हर बार हवाओं कि आवाज को एहसास अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही दिशाएं लाती है जब उसे तलाश कर लेते है तो जीवन मे हर मोड को अलग पुकार कि पहचान दुनिया अक्सर देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग किनारों कि समझ देती है जो जीवन मे हर राह को समझ लेने कि आदत देती है जो जीवन मे हर कुदरत के एहसास को अलग मकसद कि तलाश देती है जो जीवन मे हर कुदरत के मोड को अलग पुकार कि पहचान हर लम्हा अलगसा देती है।
हर बार पत्तों कि हरीयाली वही एहसास लाती है जब उसे समझ लेते है तो जीवन मे हर मौके को अलग खुशियों कि आवाज हर सुबह देती है जो जीवन मे हर किरण को अलग मकसद कि आवाज देती है जो जीवन मे हर कुदरत के किस्से को अलग किनारों कि आवाज देती है जो जीवन मे हर कुदरत के एहसास को अलग ख्वाबों के जज्बात देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग किनारों का एहसास हर पल अलगसा देती है।

No comments:

Post a Comment