Sunday, 30 April 2017

कविता. १३८३. हर मौके को उजाला दिखाने कि।

                                               हर मौके को उजाला दिखाने कि।
हर मौके को उजाला दिखाने कि आवाज हर पल के साथ हर मतलब देकर चलती है जो जीवन मे कई राहों को अलग बदलाव दिखाती है जो जीवन मे कई मौकों को अलग सुबह हर पल के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि पुकार हर उम्मीद के साथ हर कदम देकर चलती है जो जीवन मे कई दास्तानों को अलग पुकार दिखाती है जो जीवन मे कई इशारों को अलग पुकार हर कदम के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि पहचान हर लम्हे के साथ हर मतलब देकर चलती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग राहे दिखाती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग बदलाव कि धारा हर लम्हे के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि कोशिश हर एहसास के साथ हर वादा देकर चलती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग सुबह दिखाती है जो जीवन मे कई दास्तानों को अलग सुबह कि तलाश हर पल के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि सुबह हर सुबह के साथ हर रोशनी देकर चलती है जो जीवन मे कई राहों को अलग एहसास दिखाती है जो जीवन मे कई राहों को अलग बदलाव कि धारा हर इशारे के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि पहचान हर समझ के साथ हर राह देकर चलती है जो जीवन मे कई लब्जों को अलग खयाल दिखाती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग बदलाव कि समझ हर मौके के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि कोशिश हर मौके के साथ हर मतलब देकर चलती है जो जीवन मे कई राहों को अलग बदलाव दिखाती है जो जीवन मे कई दास्तानों को अलग परख कि पहचान हर लम्हे के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि आवाज हर पल के साथ हर इशारा देकर चलती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग पुकार दिखाती है जो जीवन मे कई दिशाओं को अलग बदलाव कि राह हर किनारे के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि कोशिश हर लम्हे के साथ हर मतलब देकर चलती है जो जीवन मे कई कहानियों को अलग जज्बात दिखाती है जो जीवन मे कई राहों को अलग पुकार कि समझ हर धारा के साथ मिलती है।
हर मौके को उजाला दिखाने कि पहचान हर मौके के साथ हर मकसद देकर चलती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग पुकार दिखाती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग पुकार कि आवाज हर इरादे के साथ मिलती है।

कविता. १३८२. कोई कहानी जब।

                                                           कोई कहानी जब।
हर लम्हा कोई कहानी जब आवाज अलगसी दिलाती है वह हर मोड को कई इशारों कि कहानी सुनाती है वह हर एहसास को अलग पुकार कि दास्तान बताती है वह हर पल के संग जीवन को जोडकर लम्हा बनाती है।
हर लम्हा कोई कहानी जब पुकार अलगसी दिलाती है वह हर धारा को कई किस्सों कि आवाज सुनाती है वह हर हवाओं को अलग बदलाव कि पहचान बताती है वह हर एहसास के संग जीवन को जोडकर किनारे बनाती है।
हर लम्हा कोई कहानी जब पहचान अलगसी दिलाती है वह हर किनारे को कई अंदाजों कि पुकार सुनाती है वह हर आवाज को अलग सुबह कि धारा बताती है वह हर इशारे के संग समझ को जोडकर उम्मीदे बनाती है।
हर लम्हा कोई कहानी जब रोशनी अलगसी दिलाती है वह हर एहसास को कई दिशाओं कि पहचान सुनाती है वह हर हवाओं को अलग पुकार कि आवाज बताती है वह हर एहसास के संग समझ को जोडकर किनारे बनाती है।
हर लम्हा​ कोई कहानी​ जब पहचान अलगसी दिलाती है वह हर राह को कई एहसासों कि दास्तान सुनाती है वह हर मोड को अलग बदलाव कि जरुरत बताती है वह हर मोड के संग परख को जोडकर राह बनाती है।
हर लम्हा कोई कहानी जब एहसास अलगसी दिलाती है वह हर दिशा को कई किनारों कि समझ सुनाती है वह हर किनारे को अलग पुकार कि पहचान बताती है वह हर दिशाओं के संग समझ को जोडकर पल बनाती है।
हर लम्हा कोई कहानी जब उम्मीद अलगसी दिलाती है वह हर मोड को कई अंदाजों कि पुकार सुनाती है वह हर हवाओं को अलग बदलाव कि सोच बताती है वह हर एहसास के संग आवाज को जोडकर सोच कि धारा बनाती है।
हर लम्हा कोई कहानी जब प्यास अलगसी दिलाती है वह हर मौके को कई किस्सों कि पहचान सुनाती है वह हर पुकारों को अलग आवाज कि रोशनी बताती है वह हर मोड के संग मन को जोडकर दिशाएं बनाती है।
हर लम्हा कोई कहानी जब किनारे को समझ अलगसी दिलाती है वह हर किनारे को कई लब्जों कि पुकार सुनाती है वह हर सोच को अलग सुबह कि तलाश बताती है वह हर मौके के संग मन को जोडकर राह बनाती है।
हर लम्हा कोई कहानी जब उम्मीद को सोच अलगसी दिलाती है वह हर एहसास को कई दिशाओं कि धाराएं सुनाती है वह हर किस्से को अलग आवाज कि कहानी बताती है वह हर मोड के संग मन को जोडकर उम्मीदे बनाती है।

Saturday, 29 April 2017

कविता. १३८१. हर मौसम के संग अलग।

                                           हर मौसम के संग अलग।
हर मौसम के संग अलग कहानी जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई बदलाव को अलग दिशाओं से आवाज दिखाती है वह हर किस्से को मौसम के संग अलग रोशनी हर पल दिलाती है वह बदलाव कि अलग धारा देकर​ चलती है।
हर मौसम के संग अलग रोशनी जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग पुकार से सुबह दिखाती है वह हर मौके को समझ के संग अलग उजाला हर लम्हा दिलाती है वह जीवन कि अलग रोशनी देकर चलती है।
हर मौसम के संग अलग इरादे से खुशी जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई दास्तानों को अलग रोशनी से उजाला दिखाती है वह हर लम्हे को इशारों के संग अलग कहानी हर किनारा दिलाती है वह जीवन कि अलग पुकार देकर चलती है।
हर मौसम के संग अलग पुकार से खुशी जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई राहों को अलग बदलाव से समझ दिखाती है वह हर राहों को परख के संग अलग रोशनी हर पहचान दिलाती है वह जीवन कि अलग इशारा देकर चलती है।
हर मौसम के संग अलग इशारों से खुशी जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई खयालों को अलग पहचान से सुबह दिखाती है वह हर किस्से को समझ के संग अलग रोशनी हर मौके पर दिलाती है वह जीवन कि अलग सुबह देकर चलती है।
हर मौसम के संग अलग दिशाओं से खुशी जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग पुकार से समझ दिखाती है वह हर हवाओं को परख के संग अलग कहानी हर किनारे पर दिलाती है वह जीवन कि अलग कहानी देकर चलती है।
हर मौसम के संग अलग इशारों से नजारों कि पुकार जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई अंगारों पर चलने कि जरुरत दिखाती है वह हर मोड को परख के संग अलग सुबह हर मौके पर दिलाती है वह जीवन कि अलग आशा देकर चलती है।
हर मौसम के संग अलग कहानियों से एहसासों कि दास्तान जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई किनारों पर आगे बढने कि अहमियत दिखाती है वह हर हवाओं को कुदरत के संग अलग कहानी हर कदम पर दिलाती है वह जीवन कि अलग दास्तान देकर चलती है।
हर मौसम के संग अलग किनारों से पहचान कि दिशाए जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई राहों पर आगे चलने कि ताकत​ दिखाती है वह हर मौकों को अलग सुबह के संग हर एहसास को हर मौके पर हर आस दिलाती है वह जीवन कि अलग आवाज देकर चलती है।
हर मौसम के संग अलग रोशनी से पुकार कि पहचान जिन्दा हो जाती है जो जीवन मे कई किनारों पर आगे​ बढने कि आवाज दिखाती है वह हर हवाओं को अलग पुकार के संग हर आवाज को समझ दिलाती है वह जीवन कि अलग पहचान देकर चलती है।

कविता. १३८०. हर किस्से को कोई।

                                                  हर किस्से को कोई।
हर किस्से को कोई समझ  हर एहसास के साथ हर पल मे मिलती है जो जीवन मे कई राहों को दिशाएं अलगसी दिखाती है जो इशारों को अलग सुबह दिलाती है वह हर किस्से के साथ दुनिया को कई रंगों के अंदाज देकर जाती है।
हर किस्से को कोई उम्मीद​ हर मौके के साथ हर इरादे मे मिलती है जो जीवन मे कई किनारों को पहचान अलगसी दिखाती है जो हवाओं को अलग किरण दिलाती है वह हर लम्हे के साथ उम्मीद को कई एहसासों के साथ उजाला देकर जाती है।
हर किस्से को कोई पुकार  हर कदम के साथ हर रोशनी मे मिलती है जो जीवन मे कई दिशाओं को राह अलगसी दिखाती है जो लब्जों को खयालों कि धाराएं बदलने कि उम्मीदे दिलाती है वह हर लम्हे के साथ पहचान के साथ रोशनी देकर जाती है।
हर किस्से को कोई आवाज  हर मौके के साथ हर इशारे मे मिलती है जो जीवन मे कई कहानियों को जज्बात कि आंधी अलगसी दिखाती है जो उजालों कि पहचान बदलने कि जरुरत दिलाती है वह हर किनारे के साथ हर आहट देकर जाती है।
हर किस्से को कोई एहसास  हर पल के साथ हर आवाज कि रोशनी मिलती है जो जीवन मे कई किनारों को कोई उजाले कि पुकार दिखाती है जो हवाओं कि पहचान बदलने कि उम्मीदे दिलाती है वह हर लम्हे के साथ हर इशारे को मकसद देकर जाती है।
हर किस्से को कोई दिशा  हर मौके के साथ हर मतलब कि आवाज मिलती है जो जीवन मे कई किनारों को कोई अलग पहचान कि दिशाए दिखाती है जो राहों कि पुकार बदलने कि समझ अक्सर दिलाती है वह हर मौके के साथ हर आवाज देकर जाती है।
हर किस्से को कोई उजाले  हर पल के साथ हर आवाज कि रोशनी मिलती है जो जीवन मे कई इशारों को कोई अलग जज्बात कि पहचान दिखाती है जो हवाओं कि पहचान बदलने कि जरुरत दिलाती है वह हर पल के साथ हर मतलब देकर जाती है।
हर किस्से को कोई आवाज हर मोड के साथ हर मतलब कि पुकार मिलती है जो जीवन मे कई दास्तानों को कोई अलग आवाज कि पुकार दिखाती है जो जीवन कि आवाज बदलने कि उम्मीदे दिलाती है वह हर किस्से के साथ हर मकसद देकर जाती ।
हर किस्से को कोई उजाले  हर राह के साथ हर इशारे कि आवाज मिलती है जो जीवन मे कई किनारों को मतलब को कोई अलग उजाले कि जरुरत दिखाती है जो जीवन कि रोशनी बदलने कि उम्मीदे उजाले दिलाती है वह हर लम्हे के साथ हर मतलब देकर जाती है।
हर किस्से​ को कोई एहसास हर पल के साथ हर इरादे कि पुकार मिलती है जो जीवन मे कई दास्तानों​ को मकसद को अलग पुकार कि अहमियत दिखाती​ है जो जीवन कि दिशाए बदलने कि आहट दिलाती है वह हर किस्से के साथ हर मौका देकर जाती है।

Friday, 28 April 2017

कविता. १३७९. सोच कि अलग।

                                                        सोच कि अलग।
सोच कि अलग धारा के साथ पहचान जीवन को एतबार देती है जो जीवन मे हर पुकार को अलग एहसास के साथ सुबह देकर जाती है वह हर खयाल को सोच कि अलग कहानी बताकर नयी पहचान देती है।
सोच कि अलग पहचान के साथ जीवन को आवाज देती है जो जीवन मे हर दिशा को अलग राह के साथ समझ देकर जाती है वह हर किस्से को उम्मीदों कि अलग पहचान हर मौके उजाले कि पुकार बताकर नयी समझ देती है।
सोच कि अलग दास्तान के साथ जीवन को एहसास देती है जो जीवन मे हर पल को अलग किनारों के साथ आवाज देकर जाती है वह हर लम्हे को इशारों कि अलग दास्तान हर पुकार कि आवाज बताकर नयी पुकार देती है।
सोच कि अलग कहानी के साथ जीवन को अंदाज देती है जो जीवन मे हर मौके को अलग बदलाव के साथ समझ देकर जाती है वह हर किस्से को उम्मीदों कि अलग दिशा के साथ हर एहसास कि रोशनी बताकर नयी समझ देती है।
सोच कि अलग दास्तान के साथ जीवन को कहानियों कि सौगाद दुनिया देती है जो जीवन मे हर पल के साथ दास्तान देकर जाती है वह हर लम्हे को इशारों कि अलग पुकार के साथ हर मुस्कान कि उम्मीदे बताकर नयी आशा देती है।
सोच कि अलग इतबार के साथ जीवन को उजाला देती है जो जीवन मे हर पुकार के साथ हर एहसास के साथ इशारा देकर जाती है वह हर रोशनी कि अलग दास्तान के साथ हर किनारे कि आवाज बताकर नयी समझ देती है।
सोच कि अलग कहानी के साथ जीवन को किरणों को उम्मीद देती है जो जीवन मे हर इरादे के साथ उजाला देकर जाती है वह हर किस्से कि अलग रोशनी के साथ हर रंग कि पहचान कि दिशाए बताकर नयी आहट देती है।
सोच कि अलग दास्तान के साथ जीवन को दास्तान देती है जो जीवन मे हर किनारे के साथ एहसास देकर जाती है वह हर लम्हे कि अलग निशानी के साथ हर मुस्कान कि उम्मीदे दिखाती है जो जीवन मे नयी दिशाए देती है।
सोच कि अलग इतबार के साथ जीवन को पुकार देती है जो जीवन मे हर इशारे के साथ दिशा देकर जाती है वह हर किस्से कि अलग दास्तान के साथ हर एहसास कि परख दिखाती है जो जीवन मे नयी रोशनी देती है।
सोच कि अलग कहानी के साथ जीवन को किनारों कि उम्मीदे देती है जो जीवन मे हर पुकार के साथ जीवन को समझ देकर जाती है वह हर आवाज के साथ हर मौके कि आस दिखाती है जो जीवन मे नयी​ दास्तान देती​ है।

कविता. १३७८. लब्ज मे छुपी बात।

                                                लब्ज मे छुपी बात।
हर लब्ज के अंदर अलग कहानी बनती है जो जीवन मे कई धाराओं से आगे बढती है जो जीवन मे कई किस्सों को आवाज अलगसी दिलाती है जो जीवन मे हर कहानी को किस्सों से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग पहचान सुनाई पडती है जो जीवन मे कई इशारों से आगे चलती है जो जीवन मे कई किनारों को पहचान अलगसी दिखाती है जो जीवन मे हर पुकार को आवाज से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग खयालों कि कहानी बनती है जो जीवन मे कई अंदाजों से आगे चलती है जो जीवन मे कई किनारों को आवाज अलगसी दिखाती है जो जीवन मे हर मौके को एहसासों से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग मोड कि दास्तान बनती है जो जीवन मे कई बहारों से आगे चलती है जो जीवन मे कई दास्तानों कि समझ अलगसी दिखाती है जो जीवन मे हर इशारे को दास्तानों से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग पहचान कि दिशाए बनती है जो जीवन मे कई किनारों से आगे चलती है जो जीवन मे कई तरह कि आशाएं दिलाती है जो जीवन मे हर मौके को मकसदों से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग खयालों कि उम्मीदे बनती है जो जीवन मे कई राहों से आगे चलती है जो जीवन मे कई इशारों कि आवाज दिलाती है जो जीवन मे हर किस्से को उम्मीदों से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग पहचान कि दास्तान बनती है जो जीवन मे कई इशारों से आगे चलती है जो जीवन मे कई आशाओं कि पुकार दिलाती है जो जीवन मे हर लम्हे को इशारों से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग खयालों कि सोच बनती है जो जीवन मे कई कहानियों से आगे चलती है जो जीवन मे कई इशारों कि सोच दिलाती है जो जीवन मे हर पुकार को किनारों से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग आवाज कि पुकार बनती है जो जीवन मे कई दास्तानों से आगे चलती है जो जीवन मे कई किनारों कि रोशनी दिलाती है जो जीवन मे हर एहसास को मकसदों से जोडकर आगे बढती जाती है।
हर लब्ज के अंदर अलग कहानी कि आवाज बनती है जो जीवन मे कई आवाजों से आगे चलती है जो जीवन मे कई इशारों कि पहचान दिलाती है जो जीवन मे हर पहचान को इशारों से जोडकर आगे बढती जाती है।

Thursday, 27 April 2017

कविता. १३७७. एक कोशिश अक्सर रहती है।

                                            एक कोशिश अक्सर रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई इशारों को बदलाव दिखाती है जो जीवन मे आवाज के​ अंदाज हर मौके के साथ नजारे कि कहानी जल थे को जीवन देती है जो जीवन मे अलग आवाज सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई उम्मीदों को इशारे दिखाती है जो जीवन मे सपनों के अंदाज हर दास्तान के साथ बदलती जाती है वह अलग उम्मीद देती है जो जीवन मे अलग एहसास सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई आशाओं को समझ दिखाती है जो जीवन मे किस्सों के अंदर हर मौके के साथ दिशाओं को बदलती जाती है वह अलग किनारे देती है जो जीवन मे अलग कहानी सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई दिशाओं को राह दिखाती है जो जीवन मे मौके के अंदर हर रोशनी के साथ किनारों को बदलती जाती है वह अलग एहसास कि लहर देती है जो जीवन मे अलग समझ सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई सांसों को मकसद दिखाती है जो जीवन मे आशाओं के अंदर हर मौके के साथ राह को बदलती जाती है वह अलग किनारे कि आवाज देती है जो जीवन मे अलग इरादे सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई नजारों को मतलब दिखाती है जो जीवन मे राहों के अंदर हर रोशनी के साथ बदलती जाती है वह अलग उम्मीद कि पुकार को नयी रोशनी देती है जो जीवन मे अलग किनारों कि दास्तान सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई इशारों को समझ दिखाती है जो जीवन मे एहसासों के अंदर हर राह के साथ दुनिया बदलती जाती है वह अलग एहसास कि कहानी को नयी समझ देती है जो जीवन मे अलग इशारों कि पहचान सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई दास्तानों को उम्मीद दिखाती है जो जीवन मे खयालों के अंदर हर मोड के साथ राह बदलती जाती है वह अलग उम्मीद कि रोशनी को नयी पहचान देती है जो जीवन मे अलग मौकों कि आवाज सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई कहानियों को परख दिखाती है जो जीवन मे एहसासों के अंदर हर मौके के साथ इरादे बदलती जाती है वह अलग आसमान कि रंगों को रोशनी नयी आस देती है जो जीवन मे अलग कहानी कि तलाश सुनाती रहती है।
एक कोशिश अक्सर रहती है जो जीवन मे कई धाराओं को समझ दिखाती है जो जीवन मे मकसदों के अंदर हर रोशनी के साथ इतबार बदलती जाती है वह अलग उम्मीद कि लहरों को नयी पहचान देती है जो जीवन मे अलग पुकार कि रोशनी सुनाती रहती है।

कविता. १३७६. हर बार हवाओं को कोई।

                                                  हर बार हवाओं को कोई।
हर बार हवाओं को कोई​ आवाज सुनाई पडती है जो जीवन मे कई इरादे देकर चलती है वह हर किस्से से नयी सुबह कि कोई कहानी कहती है वह हर आवाज मे दुनिया के जज्बात कई देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई पहचान सुनाई पडती है जो जीवन मे कई दास्ताने उम्मीदों कि दिशाएं मिलती है जो जीवन मे कई कहानियों कि आवाज कहती है वह हर किस्से मे कई दिशाओं से उम्मीदे देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई पुकार सुनाई पडती है जो जीवन मे कई किनारों को आशाएं देकर चलती है जो जीवन मे कई दास्तानों कि जरुरत कुछ कहती है वह हर पल मे कई किनारों से आशाओं कि राह देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई मुस्कान सुनाई पडती है जो जीवन मे कई रंगों कि सुबह देकर चलती है जब जीवन मे कई एहसासों कि पुकार कुछ कहती है वह हर लम्हे मे कई दास्ताने छुपीसी रहती है जो उम्मीदे देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई उजाले कि आवाज सुनाई पडती है जो जीवन मे कई दास्तानों कि जरुरत उम्मीदे देकर चलती है जब जीवन मे कई किनारों कि रोशनी कुछ कहती है वह हर इशारे मे समझ के संग रहती है जो किनारे देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई एहसास कि पुकार सुनाई पडती है जो जीवन मे कई इशारों कि पहचान देकर चलती है जब जीवन मे कई आशाओं कि आवाज कुछ कहती है वह हर लम्हे मे अलग एहसास के संग रहती है जो इशारे देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई किरणों कि उम्मीदे सुनाई पडती है जो जीवन मे कई अंदाजों कि आवाज देकर चलती है जब जीवन मे कई मोड कि अलग दास्तान कुछ कहती है वह हर रोशनी मे अलग उम्मीदों के संग रहती है जो इरादे देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई पुकार कि शुरुआत सुनाई पडती है जो जीवन मे कई दास्तानों कि समझ देकर चलती है जब जीवन मे कई किनारों कि अलग तलाश मे कुछ कहती है वह हर किस्से मे अलग दिशाओं के संग रहती है जो उम्मीदे देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई पहचान कि दिशाए सुनाई पडती है जो जीवन मे कई कहानियों कि आवाज देकर चलती है जब जीवन मे कई एहसासों कि समझ मे कुछ कहती है वह हर इरादे मे अलग पहचान के संग रहती है जो दिशाएं देकर आगे जाती है।
हर बार हवाओं को कोई एहसास कि धाराएं सुनाई पडती है जो जीवन मे कई इरादों कि पुकार देकर चलती है जब जीवन मे कई किनारों कि समझ में कुछ कहती है वह हर किस्से मे अलग इरादे के संग रहती है जो हवाओं को आवाज देकर आगे जाती है।

Wednesday, 26 April 2017

कविता. १३७५. हर कदम पर दुनिया को अलग

                                                    हर कदम पर दुनिया को अलग।
हर कदम पर दुनिया को अलग आस मिलती है जो जीवन मे हर राह को एक प्यास देती है वह हर लम्हे को एहसास दिखाती है वह हर कदम को अलग किसम कि आवाज दिखाती है वह हर किनारे को सुबह देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग मतलब मे खुशियाँ मिलती है जो जीवन मे हर रंगों को एक आवाज देती है वह हर कहानी को हकीकत बनाने का मकसद दिखाती है वह हर कदम को अलग उम्मीद दिखाती है वह हर इशारे को एहसास देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग मकसद के एहसास मिलते है जो जीवन मे हर किस्से को एक पुकार हर पल के साथ हर मौके को उम्मीद से अक्सर दिखाती है वह हर इशारे को अलग सुबह कि सौगाद दिखाती है वह हर उम्मीद को समझ देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग इशारों के साथ आवाज मिलती है जो जीवन मे हर राह को एक पहचान हर मौके के साथ हर रोशनी को समझ दिखाती है वह हर किनारे को अलग किसम कि समझ दिखाती है वह हर पुकार को आशाए देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग पुकार मिलती है जो जीवन मे हर रंग को एक कहानी हर इशारे के साथ हर सौगाद के संग अक्सर दिखाती है वह हर इरादे को अलग आवाज कि धारा हर मौके पर रोशनी दिखाती है वह हर इशारे को रोशनी देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग अंदाज कि किस्मत मिलती है जो जीवन मे हर किरण को हर इरादे के साथ हर पल के संग खुशियाँ अक्सर दिखाती है वह हर इशारे को अलग सुबह कि जरुरत हर इशारे पर अलग ताकत दिखाती है वह हर किस्से को उम्मीद देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग पहचान कि दास्तान मिलती है जो जीवन मे हर किनारों को हर राह के साथ हर सुबह के संग अलगसा विश्वास दिखाती है वह हर लम्हे को अलग कहानियों कि अहमियत हर बार दिखाती है वह हर पल को इशारे देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग इरादों कि पहचान मिलती है जो जीवन मे हर किस्से को हर इरादे के साथ दुनिया को अलग आवाज के संग अलगसा एहसास दिखाती है वह हर किस्से को पुकार कि उम्मीद दिखाती है वह हर मौके को इरादे देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग आस कि पुकार मिलती है जो जीवन मे हर पल को हर किनारे के साथ दुनिया को अलग इशारे के संग अलगसा विश्वास दिखाती है वह हर कदम को समझ कि जरुरत दिखाती है वह हर लम्हे को इशारे देती है।
हर कदम पर दुनिया को अलग उजाले कि पहचान मिलती है जो जीवन मे हर मौके को हर किनारे के लहरों कि आवाज हर पल के साथ दिखाती है वह हर दिशा को कई किनारों के एहसास कि जरुरत दिखाती है वह हर मौके को पहचान देती है। 

कविता. १३७४. हर बार जो बात होती है।

                                           हर बार जो बात होती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ असर अक्सर दिलाती है हर एहसास को वह हर किस्से के सहारे नयी आवाज देकर चलती है वह हर बात के कई मतलब हर पल के संग देकर चलती है हर बात कि आवाज तो हर पल रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग अंदाज दिलाती है हर किस्से को वह हर मौके के सहारे नयी राह देकर चलती है वह हर इशारे के कई एहसास हर लम्हे के संग देकर चलती है हर बात कि कहानी तो हर लम्हा रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग नजारे दिलाती है हर कुदरत को वह हर पल के सहारे नयी आहट देकर चलती है वह हर मौसम के कई अंदाज हर रंग के संग देकर चलती है हर बात कि दिशाए तो हर मौके मे रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग इरादे दिलाती है हर उजाले को वह हर किनारे के सहारे नयी आशाए देकर चलती है वह हर रोशनी के कई किनारे हर लम्हे के संग देकर चलती है हर बात कि आवाज तो हर इशारे मे रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग एहसास दिलाती है हर लम्हे को वह हर धारा के सहारे नयी पुकार देकर चलती है वह हर आवाज के कई इशारे हर एहसास के संग देकर चलती है हर बात कि तलाश तो हर पहचान मे रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग सौगाद दिलाती है हर इशारे को वह हर लब्ज के सहारे नयी राह देकर चलती है वह हर लम्हे के कई किनारे हर पुकार के संग देकर चलती है हर बात कि आवाज तो हर जगह मे रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग लम्हा दिलाती है हर किस्से को वह हर इरादे के सहारे नयी सुबह देकर चलती है वह हर इशारे के कई इरादे हर पल के संग देकर चलती है हर बात कि दिशाए तो हर पल मे रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग धारा दिलाती है हर रोशनी को वह हर उजाले के सहारे नयी परख देकर चलती है वह हर किनारे के कई नजारे हर मौके के संग देकर चलती है हर बात कि उम्मीद तो हर दिशा मे रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग दिशा दिलाती है हर मौके को वह हर लब्ज के सहारे नयी सुबह देकर चलती है वह हर इशारे के कई किनारे हर पल के संग देकर चलती है हर बात कि तलाश तो हर एहसास मे रहती है।
हर बार जो बात होती है वह कुछ अलग राह दिलाती है हर सोच को वह हर लम्हे के सहारे नयी पुकार देकर चलती है वह हर मौके के कई इरादे हर एहसास के संग देकर चलती है हर राह कि समझ तो हर सोच मे रहती है। 

Tuesday, 25 April 2017

कविता. १३७३. हर सुबह के रंगों को।

                                                 हर सुबह के रंगों को।
हर सुबह के रंगों को अहमियत मिलती है हर कुदरत के बदलाव के संग जीवन कि कहानी बदलती रहती है जो जीवन मे सुबह कि अलग हकीकत हर बार कहती है जो जीवन मे बदलाव कि कहानी को मकसद देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को एहसास कि शुरुआत मिलती है हर इशारे के संग जीवन कि सौगाद बदलती रहती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया हर बार दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों कि कहानी को उजाला देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को किनारे मे हर पल रोशनी मिलती है हर उजाले के संग जीवन कि प्यास बदलती रहती है जो जीवन मे कई एहसासों कि पहचान हर बार दिखाती है जो जीवन मे कई एहसासों कि कहानी को मकसद देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को उम्मीद मिलती है हर किस्से के संग जीवन कि पहचान बदलती रहती है जो जीवन मे कई आशाओं कि जरुरत हर बार दिखाती है जो जीवन मे कई राहों कि दिशाए हर मौके को लब्जों से आवाज देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को रोशनी मिलती है हर कुदरत के संग जीवन कि पुकार बदलती रहती है जो जीवन मे कई किनारों कि पहचान हर बार दिखाती है जो जीवन मे कई लब्जों कि पुकार हर जरुरत को इशारों से मतलब देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को आवाज मिलती है हर किस्से के संग दुनिया कि आवाज बदलती रहती है जो जीवन मे कई एहसासों कि दिशाए हर बार दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया हर मौके को लब्जों से मकसद देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को राहे मिलती है हर खयाल के संग दुनिया कि धाराओं कि पहचान बदलती रहती है जो हर बार दिन के शुरुआत को कई एहसासों से भरती है वह हर हवा के संग कई अंदाज हर पल के साथ देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को नये कोनों कि पुकार मिलती है हर दिशा के संग जीवन कि कहानी एहसास को बदलती रहती है जो हर बार जीवन को कई आशाओं से भरती है वह हर किनारे के संग कई हिस्सों के साथ परख देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को रोशनी मिलती है हर किनारे के संग जीवन कि सौगाद इशारों को बदलती रहती है जो हर बार जीवन को कई सहारों से आगे बढती है वह हर इशारे को अलग रंगों के साथ रोशनी के लिए उम्मीद देकर चलती है।
हर सुबह के रंगों को एहसास कि परख मिलती है हर कुदरत के संग मौसम कि आस जिन्दा रहती है जो हर बार जीवन मे कई एहसासों से आगे बढती है वह हर किस्से को अलग इशारों के साथ रोशनी कि नयी दुनिया देकर चलती है। 

कविता. १३७२. हर किस्से को पुकार कि अलगसी।

                                                   हर किस्से को पुकार कि अलगसी।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी समझ होती है जो जीवन मे हर कदम को अलग अल्फाज दिलाती है वह हर इशारे को अलग सुबह कि आवाज सुनाती है वह हर इशारे को कई किस्सों के संग उम्मीद देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी परख होती है जो जीवन मे हर दिशा को अलग पहचान दिलाती है वह हर धारा को अलग राह कि जरुरत सुनाती है वह हर मौके को कई लब्जों के संग एहसास देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी सोच होती है जो जीवन मे हर अल्फाज को अलग सुबह दिलाती है वह हर दिशा को अलग रंगों कि समझ सुनाती है वह हर इरादे को कई किनारों के संग जज्बात देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी उम्मीद होती है जो जीवन मे हर किस्से को अलग कहानियों कि आवाज दिलाती है वह हर किरण को कई किनारों के संग उम्मीद अलगसी देती है हर बार हर कदम पर इरादे देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी समझ होती है जो जीवन मे हर इशारे को अलग सुबह कि आवाज दिलाती है वह हर इशारे को कई कदमों के संग अलगसी सुबह देती है हर बार हर सौगाद पर जो इशारे देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी परख होती है जो जीवन मे हर कदम को अलग किसम कि समझ दिलाती है वह हर इरादे को कई किनारों के संग सुबह कि पुकार देती है हर बार हर नजारे पर जो इरादे देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी पहचान होती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग एहसास कि परख दिलाती है वह हर उम्मीद को कई कदमों के संग इशारे कि पहचान देती है हर बार हर इरादे पर जो उम्मीदे देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी समझ होती है जो जीवन मे हर धारा मे हर किस्से को अलग रोशनी कि आवाज दिलाती है वह हर धारा को कई किरणों के संग इरादे कि जरुरत देती है हर बार हर इशारे पर जो रोशनी देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी उम्मीद होती है जो जीवन मे हर रंगों मे हर इरादे को अलग आवाज कि रोशनी दिलाती है वह हर किनारे को कई उजालों के संग विश्वास कि अहमियत देती है हर बार हर किस्से पर जो पुकार देकर चलती है।
हर किस्से को पुकार कि अलगसी दिशाए होती है जो जीवन मे हर लम्हे मे हर किस्से को अलग पहचान कि पुकार दिलाती है वह हर राह को कई किनारे के संग अलगसी आवाज कि जरुरत उजाला देती है हर बार हर राह पर जो इशारे देकर चलती है। 

Monday, 24 April 2017

कविता. १३७१. हर उजाला जीवन मे कई तरह।

                                           हर उजाला जीवन मे कई तरह।
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि रोशनी दिखाता है वह जीवन मे कई इरादों से कई हवाओं से कई तरह का एहसास देकर चलती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया देकर हर बार आगे बढती रहती है।
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि उम्मीदे दिलाता है वह उम्मीद ही तो जीवन कि नयी सुबह दिखाती है जो किरणों के संग आगे चलती है जो जीवन मे कई रंगों कि आसमान मे दिशाए देकर आगे जाती रहती है।
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि दिशाए दिखाता है वह दिशाए ही तो जीवन कि नयी सौगाद हर पल जीवन मे आगे चलती है जो जीवन मे कई एहसासों कि कहानी मे विश्वास देकर आगे जाती रहती है।
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि उम्मीदे दिलाता है वह पहचान के संग अलगसा विश्वास देती है हर मौके मे आगे बढती है जो जीवन मे कई मौकों कि जरुरत मे एहसास कि सौगाद देकर आगे जाती रहती है।
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि पहचान दिलाता है वह किनारे के संग अलगसा एहसास देती है हर राह मे आगे बढती है जो जीवन मे कई कोनों कि कहानियों मे दिशाओं कि पुकार देकर आगे बढती रहती है।
हर उजाला जीवन मे कई तरह के किनारे दिलाता है वह इशारे के संग अलगसा इरादा देती है हर हवा मे आगे बढती है जो जीवन मे कई रंगों कि कोमलता मे पहचान कि दिशाए देकर आगे जाती रहती है।
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि पुकार दिलाता है वह दुनिया के संग अलगसा विश्वास देती है हर रोशनी मे आगे बढती है जो जीवन मे कई एहसासों कि समझ कि पुकार मतलब देकर आगे जाती रहती है
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि दिशाए दिलाता है वह एहसासों के संग अलगसा इतबार देती है हर किस्से मे आगे बढती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया कि आवाज इतबार देकर आगे जाती रहती है।
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि रोशनी दिलाता है वह रंगों के संग अलगसा विश्वास देती है हर इरादे मे अलग किनारा दिखाकर आगे बढती है जो जीवन मे कई किस्सों कि अलग इशारों कि आवाज देकर आगे जाती रहती है।
हर उजाला जीवन मे कई तरह कि उम्मीदे दिलाता है वह किरदारों के संग अलगसा इतबार देती है हर किस्से मे अलग इशारे पर आगे बढती है जो जीवन मे कई एहसासों कि अलग दिशाओं कि पुकार देकर जाती रहती है। 

कविता. १३७०. हर बात को बताने के।

                                                      हर बात को बताने के।
हर बात को बताने के बहाने कई होते है जिन्हे समझने कि जरुरत हो वह फसाने कई होते है हर किस्से को कई किनारों के साथ परख लेने कि जरुरत होती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया को अलग बातों कि समझ दिलाती है।
हर बात को बताने के किनारे कई होते है जिन्हे समझने कि कोशिश हो वह अफसाने कई होते है हर किस्से को कई कदमों के साथ समझ लेने कि जरुरत होती है जो जीवन मे कई एहसासों कि अलग निशानी कि समझ दिलाती है।
हर बात को बताने के किनारे कई होते है जिन्हे समझने कि पुकार हो वह किस्से मे कई रंगों कि कहानी मे हम जिन्दा होते है की इशारों के साथ जीवन को परख लेने कि जरुरत होती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया दिलाती है।
हर बात को बताने के इशारे कई होते है जिन्हे समझने कि कोशिश हो वह कोशिश मे कई एहसास को मतलब कि अलग कहानी हर बार छुपी हुई होती है जो जीवन मे कई एहसासों मे कई खयालों कि उम्मीद दिलाती है।
हर बात को बताने के इरादे कई होते है जिन्हे समझने कि कहानी हो वह जीवन मे कई रंगों को उजाले मे अलग एहसास कि आवाज मे धारा के किस्सों मे छुपी हुई होती है जो जीवन मे कई रंगों कि आवाज दिलाती है।
हर बात को बताने के बहाने कई होते है जिन्हे समझने कि जरुरत हो वह जीवन मे कई किनारों को अलग राह कि उम्मीदे दिखाती है वह इशारों मे छुपी हुई होती है जो जीवन मे कई एहसासों कि परख दिलाती है।
हर बात को बताने के इरादे कई होते है जिन्हे समझने कि कोशिश हो वह जीवन मे कई एहसासों को अलग पहचान कि निशानी दिखाती है जो जीवन मे कई धाराओं मे कई कहानियों कि साँसे दिलाती है।
हर बात को बताने के किस्से कई होते है जिन्हे समझने कि आशा हो वह जीवन मे कई खयालों को अलग आवाज कि पुकार दिखाती है जो जीवन मे कई आशाओं मे कई किनारों कि उम्मीदे दिलाती है।
हर बात को बताने के इरादे कई होते है जिन्हे समझने कि रोशनी हो वह जीवन मे कई एहसासों को अलग पहचान कि जरुरत दिखाती है जो जीवन मे कई एहसासों मे कई रंगों कि कोमलता दिलाती है।
हर बात को बताने के किनारे कई होते है जिन्हे समझने कि उम्मीदे हो वह जीवन मे कई रंगों को उजाला दिखाकर जाने कि जरुरत दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों मे कई इशारों कि सुबह दिलाती है। 

Sunday, 23 April 2017

कविता. १३६९. हर अल्फाज मे एहसास कि।

                                                हर अल्फाज मे एहसास कि।
हर अल्फाज मे एहसास कि जरुरत होती है जो जीवन मे कई धाराओं कि दुनिया हर पल बदलती है हर सोच को आईना अल्फाजों कि कहानी बताती है जो जीवन मे कई इशारों को अलग एहसास के साथ आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि अहमियत होती है जो जीवन मे कई किनारों कि पुकार हर किस्से को बदलती है हर मौके को लब्जों कि दुनिया अलग दिशाए बताती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग उजाले के साथ लेकर आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि उम्मीद होती है जो जीवन मे कई किस्सों कि पहचान हर मौके को दिलाती है वह हर बार दुनिया बदलती है हर राह को आसान किनारे कि चाहत नयी रोशनी कि बात बताती है कई किस्सों के साथ उम्मीद को लेकर आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि पूँजी होती है जो जीवन मे कई दिशाओं कि आस हर लम्हे को अक्सर दिलाती है वह हर बार इरादों कि दुनिया बदलती है हर किनारे को उजाले कि आहट नयी सुबह बताती है कई तरह कि उम्मीदों के साथ आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि परख होती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया हर इशारे को उजाला दिलाती है वह हर बार सुबह कि रोशनी बदलती है हर राह को किनारे कि आवाज नयी पुकार बताती है कई तरह कि सुबह के साथ आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि अंदाज होती है जो जीवन मे कई किरणों कि कहानी को हर इरादे को समझ के साथ उम्मीद दिलाती है वह हर बार नजारे कि रोशनी बदलती है हर इशारे को सुबह कि रंगों कि कहानी बताती है कई तरह कि दिशा के साथ आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि चाहत होती है जो जीवन मे कई इरादों कि कहानी को हर इशारे को परख लेने कि जरुरत नया किनारा दिलाती है वह हर बार बातों कि कहानी बदलती है हर किरदार को समझ कि आवाज बताती है वह नये मोड के साथ आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि अहमियत होती है जो जीवन मे कई रंगों कि कोमलता को हर लम्हे कि परख हर बार दिलाती है वह हर बार कहानियों कि धाराएं बदलती है वह हर उजाले को समझ कि पहचान बताती है वह नये इशारे के साथ आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि पहचान होती है जो जीवन मे कई एहसासों कि अलग रोशनी को हर पल के साथ सुबह दिलाती है वह हर खयाल को नयी समझ के संग बदलती है वह हर किनारे को अलग उजालों मे बताती है वह नये सुबह के साथ आगे जाती है।
हर अल्फाज मे एहसास कि सोच होती है जो जीवन मे कई खयालों के अलग पुकार को हर मौके पर हर आवाज के साथ उम्मीद दिलाती है वह हर किनारे को नयी पहचान के संग बदलती है वह हर इशारे को अलग किनारा बताती है वह नये उजाले के साथ आगे जाती है। 

कविता. १३६८. कहते रहना तो सबकी।

                                            कहते रहना तो सबकी।
कहते रहना तो सबकी आदत होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपनी सोच कि काबिलियत होती है हर कही बात के अफसाने तो बनते ही है किस अफसाने को समझ लेने पर उस कब अनदेखा कर दे यह अपनी समझ होती है।
कहते रहना तो सबकी जरुरत होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपने मन कि जरुरत होती है हर दिशा के संग कई किस्सों को उस मोड पर छोड देने से अपने सपनों को पूरा करने कि फुरसत जीवन मे बन जाती है जिसकी अहमियत होती है।
कहते रहना तो सबकी आस होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपने समझ कि जरुरत होती है हर धारा के संग कई राहों को उस रंगों पर समझ लेने से अपनी कहानियों को पूरा करने कि जरुरत बन जाती है जिसकी पुकार अहम होती है।
कहते रहना तो सबकी आदत होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपने हालात कि जरुरत होती है हर किनारे के संग कई इशारों को उस पल पर अलग इरादे से कोई लब्ज दिखाकर आगे बढती जाती है जिसकी आवाज एहसासों को जरुरी होती है।
कहते रहना तो सबकी पहचान होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपने जीवन कि सौगाद होती है हर खयाल के संग कई किस्सों को उस समय पर अलग इशारे से कोई एहसास देकर आगे बढती जाती है जिसकी वजह खुशियों को पहचान होती है।
कहते रहना तो सबकी आवाज होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपने मन कि जरुरत होती है हर सोच के संग कई पहचान को उस किनारे पर अलग इरादे से कोई समझ कि पूँजी देकर आगे बढती जाती है जिसकी दिशाओं से सुबह कि रोशनी अलग होती है।
कहते रहना तो सबकी आदत होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपने दिल की मर्जी होती है हर किनारे के संग कई किस्सों को उस दिशा पर अलग एहसास से कोई बदलाव कि समझ अलग इशारे बढती जाती है जिनमे सुबह कि अलग उम्मीदे होती है।
कहते रहना तो सबकी जरुरत होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपने समझ कि परख होती है हर दिशा के संग कई हिस्सों को उस किनारे पर अलग पहचान से कोई दास्तान कि समझ अलग असर से बढती है जिनमे अलग इशारों कि जरुरत होती है।
कहते रहना तो सबकी आदत होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपने हालात कि जरुरत होती है हर खयाल के संग किसी कहानी पर अलग किरदारों से कोई पहचान कि सोच देकर आगे बढती है जिनमे अलग इरादों कि जरुरत होती है।
कहते रहना तो सबकी ताकत होती है क्या सुने क्या ना सुने यह अपनी सोच कि ताकत होती है हर इरादे के संग किसी इशारे पर अलग बदलाव से कोई उम्मीद कि पुकार रहती है जो हर पल आगे बढती है जिसमे अलग किनारे कि अहमियत होती है। 

Saturday, 22 April 2017

कविता. १३६७. हर दिशा के संग।

                                                  हर दिशा के संग।
हर दिशा के संग अलगसा विश्वास दुनिया दिखाती है वह हर राह को हर सोच के साथ उम्मीद दिखाती है वह हर दिशा को अलग पुकार दिलाती है वह हर इशारे को परख अलगसी हर पल मे दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा एहसास दुनिया दिखाती है वह हर अंदाज को हर दिशा के साथ आशाए दिखाती है वह हर एहसास को अलग किनारा दिलाती है वह हर इशारे को किसी किस्से कि ताकत दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा किनारा दुनिया दिखाती है वह हर इशारे को हर लम्हे के साथ अलग दिशा दिखाती है वह हर कदम को अलग पहचान दिलाती है वह हर अंदाज को किसी जज्बात कि उम्मीद दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा उजाला दुनिया दिखाती है वह हर समझ को हर पुकार के साथ अलग सौगाद दिखाती है वह हर आवाज को अलग सोच दिलाती है वह हर इरादे को किसी तराने कि पुकार दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा इशारा दुनिया दिखाती है वह हर किरण को हर आकाश के साथ अलग अंदाज दिखाती है वह हर मौके को अलग तलाश दिलाती है वह हर इशारे को किसी समझ कि आवाज दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा एहसास दुनिया दिखाती है वह हर राह को हर लम्हे के साथ अलग सौगाद दिखाती है वह हर इरादे को अलग पुकार दिलाती है वह हर एहसासों को किसी परख कि जरुरत दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा किनारा दुनिया दिखाती है वह हर इशारे को हर पुकार के साथ नयी आशाए दिखाती है वह हर सौगाद को अलग दिशाए दिलाती है वह हर रोशनी को उजालों कि सौगाद दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा एतबार दुनिया दिखाती है वह हर किनारे को हर जज्बात के साथ नयी सौगाद दिखाती है वह हर कदम को अलग किनारे दिलाती है वह हर इशारे को अलग सौगाद कि पहचान दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा उजाला किनारे कि उम्मीद दिखाती है वह हर समझ के साथ अलग पुकार दिखाती है वह हर इशारे को अलग सुबह के रंग दिलाती है वह हर पुकार को अलग दिशाए हर मौके पर दिलाती है।
हर दिशा के संग अलगसा विश्वास राहों कि जरुरत दिखाती है वह हर इशारे के साथ जीवन कि दिशाए दिखाती है वह हर मुस्कान को अलग पहचान के रंग दिलाती है वह हर इरादे को अलग रोशनी कि हर पल के साथ आवाज दिलाती है। 

कविता. १३६६. हर किस्से को एहसास के साथ।

                                              हर किस्से को एहसास के साथ।
हर किस्से को एहसास के साथ सुंदरता अलग उम्मीदे देती जाती है हर किस्से को कई कहानियों कि पहचान हर इशारे को मकसद दिखाती है हर इशारे मे कई राहों को आशाओं कि पहचान अलग आस दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ समझाने से अलग उजाला देती जाती है हर पुकार को कई किनारों कि आदत हर समझ को रोशनी दिखाती है हर किस्से मे कई रंगों को इशारों कि आवाज अलग पहचान दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ उम्मीदों से अलग मुस्कान दुनिया देती जाती है हर समझ को कई किनारों कि पुकार हर मौके को पहचान दिखाती है हर आवाज मे कई इशारों कि पहचान अलग पुकार दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ पहचान कोई दिशाए देती जाती है हर किरदार को कई इशारों से हर पल उम्मीद नजर आती है जो हर खयाल को अलग किस्से के संग नया उजाला हर पल के साथ अक्सर दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ उजाले कि कोई किरण उम्मीद देती जाती है हर किनारे को कई लहरों से हर बूँद के मतलब मे नजर आती है जो हर मौके को अलग लब्ज के संग नयी पुकार के साथ रोशनी अक्सर दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ जज्बात कि कोई आशा उम्मीद देती जाती है हर इशारे को कई उजालों से लगातार हर कदम के साथ रोशनी आती है जो हर जीवन को अलग उम्मीदों के संग नयी राह हर पल अक्सर दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ खयाल कि कोई दास्तान इशारे देती जाती है हर कदम को कई धाराओं से उम्मीद हर मौके के साथ उजाले लेकर आती है जो हर किनारे को अलग लहरों के संग नयी पुकार हर मौके मे अक्सर दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ पुकार कि कोई दिशा उम्मीदे देती जाती है हर किरदार को कई लहरों से आवाज हर इशारे के साथ सौगाद अलग लेकर आती है जो हर अंदाज को परख के संग नयी सुबह हर खयाल मे अक्सर दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ उम्मीदों को कोई उजाला देती जाती है हर इशारे को कई परख कि लहर के साथ अलग किनारे को मतलब लेकर आती है जो हर राह को समझ के संग नयी उजाला हर पल मे अक्सर दिलाती है।
हर किस्से को एहसास के साथ कहानी कि कोई किरदार देती जाती है हर मौके को कई किनारों कि पुकार के साथ अलग आवाज को मकसद लेकर आती है जो हर बात को परख के संग नयी पहचान हर मौके मे अक्सर दिलाती है। 

Friday, 21 April 2017

कविता. १३६५. हर कहानी को मकसद देकर।

                                   हर कहानी को मकसद देकर।    
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए कदमों को बढने कि जरुरत होती है वह हर इशारे को कई कदमों कि आहट देकर दुनिया हर बार आगे चलती है वह कहानी के कई किरदारों को अलग सुबह हर पल मे दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को हर मौके कि जरुरत होती है वह हर कदम पर कोई कहानी दिखाती है वह हर इशारे को अलग सुबह के साथ आगे लेकर चलती है वह हर  किस्से को मतलब दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को उसके पलों को जीने कि जरुरत हर बार रहती है जिसमे जीवन कि दास्तान दिखाती है वह हर किरदार को अलग इशारों के साथ आगे लेकर चलती है वह हर मौके को रोशनी दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को हर मौके को जीने कि चाहत हर बार जरुरी होती है जिसमे जीवन कि अदा कुछ अलग रंगों के एहसास दिखाती है वह हर इशारे को अलग अल्फाज दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को हर इशारे को समझ लेने कि जरुरत हर बार रहती है वह हर सोच को अलगसी उम्मीद दिखाती है वह हर मौके को अलग नजारा हर किनारे पर अक्सर दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को हर रोशनी को उम्मीद कि निशानी जरुरी रहती है वह हर किस्से को अलगसा इरादा दिखाती है वह हर मौके को पहचान कि नयी दास्तान दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को हर लब्ज को समझ कि पहचान जरुरी रहती है वह हर इशारे को अलगसी सोच दिखाती है वह हर किनारे को उजाले कि आवाज अलगसी हर मौके पर दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को हर इशारे को परख कि जरुरत हर मौके को पुकार देकर रहती है वह हर लम्हे को अलगसी पहचान दिखाती है वह हर इशारे को अलगसा उजाला दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को हर सुबह को नयी पहचान देने कि जरुरत हर इरादे को हर पल रहती है वह हर किस्से को अलगसी रोशनी दिखाती है वह हर किनारे को अलगसी पहचान दिलाती है।
हर कहानी को मकसद देकर जाने के लिए जीवन को हर किनारे को नयी ताकत देने कि जरुरत हर इशारे को हर मौके पर रहती है वह हर दिशा को अलगसी आवाज दिखाती है वह हर उजाले को अलगसी उम्मीद दिलाती है।


कविता. १३६४. हर बार मन कि बात पूरी नही होती है।

                                         हर बार मन कि बात पूरी नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर खयाल को जब समझ लेते है तो एक बात अक्सर समझ आती है कि मन के अंदर कि हर बात हो जाये यह बात जीवन मे जरुरी नही होती है वह जीवन कि मजबूरी नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर मौके को सुबह कि रोशनी दे वह सोच कि धारा को अक्सर समझ आती है वह समझाती है कि हर लम्हे को मुस्कान उस बात को बिना समझे भी मिल पाती है वह बात साँसों सी अहम नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर रंग को नयी सुबह दे वह बात कई बार मन मे नही आती है वह हर किनारे को समझाती है कि हर पल को उजाले मे परख लेने कि जरुरत उम्मीदों मे मिल पाती है मन कि बात जिन्दगी नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर कदम को नयी रोशनी दे वह शुरुआत सही किस्से से नही आती है वह हर इशारे को समझाती है कि हर लम्हे को रोशनी मे समझ लेने कि उम्मीद राहों से मिल पाती है हर राह मन कि बात मे नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर आशाओं को नयी सोच दे वह उम्मीद तलाश करने से ही जीवन मे आती है वह मन कि बात को समझे बिना हर पल मे रोशनी हासिल नही होती है पर वह बात अधूरी हो तो भी अनकही नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर कदम को नयी परख दे वह दिशा ढूँढने से ही  अक्सर दुनिया मे आती है वह मन कि जरुरत हर कदम को सुने बिना जीवन मे उजाले के संग पहचान हो जाती है जब जीवन कि राह गलत नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर इशारे को नयी सुबह दे वह दिल कि आवाज कभी कभी मुश्किल राह से ही आगे आती है वह मन कि सोच को अंदाज अलग देती है जो जीवन मे हर बार मन कि बात पूरी करने के जरुरत मे नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर किनारे को नयी रोशनी दे वह सोच कि कहानी कभी कभी जीवन को आगे ले आती है वह मन कि सौगाद को आवाज अलग देती है जो जीवन मे हर बार समझाती है आसान किनारे कि जरुरत नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर इशारे को नयी समझ दे वह उजाले कि रोशनी कभी कुदरत के साथ आगे लेकर आती है वह मन कि पहचान को एहसास अलग देती है जो जीवन मे हर किस्से कि खुशी को दिल चाहे रंगों कि जरुरत नही होती है।
हर बार मन कि बात पूरी नही होती है जो जीवन मे हर कदम को नयी पुकार दे वह आवाज कि कहानी सही मोड से आगे लेकर आती है वह मन कि दिशाओं को मतलब अलग अक्सर देती है जो जीवन मे मौके कि आवाज मे मन कि बात पूरी हो उसकी जरुरत नही होती है। 

Thursday, 20 April 2017

कविता. १३६३. हर खयाल मे अलग कोई।

                                               हर खयाल मे अलग कोई।
हर खयाल मे अलग कोई दुआ हो तो जीवन का अंदाज अलगसा होता है जो जीवन मे हर पल मे कोई किस्सा देता है जो जीवन मे हर एहसासों को अलग दुआएं हर मौके पर हर किस्से के संग असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई जज्बात हो तो जीवन का एहसास अलगसा होता है जो जीवन मे हर कदम पर कोई असर देता है जो जीवन मे हर दिशाओं को अलग मतलब का इशारा देकर आवाज के संग असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई किनारा हो तो जीवन का इशारा अलगसा होता है जो जीवन मे हर पल पर कोई अलग समझ देता है जो जीवन मे हर किस्से को सतरंगी रंगों कि पहचान देकर उनको आसमान मे फैलाकर असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई इरादा हो तो जीवन का किनारा अलगसा होता है जो जीवन मे हर बार कई लहरों से टकराता है जो जीवन मे हर कदम को अलग मकसद देकर चलता है उनके टकरने से जीवन अलग असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई इशारा हो तो जीवन का इरादा अलगसा होता है जो जीवन मे हर बार आसमान मे उडने कि जरुरत जीवन को देकर चलता है हर किस्से को अलग मतलब सिर्फ मन कि कहानी को अलग असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई एहसास हो तो जीवन का एहसास अलगसा होता है जो जीवन मे हर पुकार मे आगे बढने कि ताकत जीवन को दिलाकर चलता है हर मौके को अलग एहसास कि आवाज देता है उसका अलग असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई जज्बात हो तो जीवन का कहना अलगसा होता है जो जीवन मे हर रोशनी मे आगे बढने कि जरुरत जीवन को उम्मीदे दिखाकर चलता है हर किनारे को अलग सोच कि पहचान देता है जिसका एहसास जीवन मे अलग असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई किनारा हो तो जीवन का इरादा अलगसा होता है जो जीवन मे हर कदम मे आगे चलने कि जरुरत जीवन को हर मौके कि उम्मीदे दिखाकर चलता है हर किस्से को अलग उजाला परख देता है जिसका इरादा अलग असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई मौसम हो तो जीवन का इशारा अलगसा होता है जो जीवन मे हर किस्से मे आगे जाने कि उम्मीदे हर पल कि कहानी मे दिखाकर चलता है हर उजाले को अलग सौगाद को परख देता है जो जीवन पर कुछ अलग असर देता है।
हर खयाल मे अलग कोई कदम हो तो जीवन का किनारा अलगसा होता है जो जीवन मे हर मौके मे आगे हर लम्हा जाने कि राह दिखाकर चलता है हर किस्से को अलग एहसास के संग वह अलग इरादे देता है वह जीवन के हर किस्से को कुछ अलग असर देता है। 

कविता. १३६२. हर लम्हा जीवन मे कोई।

                                                     हर लम्हा जीवन मे कोई।
हर लम्हा जीवन मे कोई आवाज अलगसी आती है जो जीवन मे हर किस्से को कई कदमों कि आहट से आगे लेकर चलती है जो जीवन मे हवाओं से कई अंदाज दिलाती है वह हर किनारे को लम्हा देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई पहचान अलगसी होती है जो जीवन मे हर इशारे को कई मकसदों कि आहट से आगे लेकर चलती है जो जीवन मे रंगों से कई इशारे दिलाती है वह हर इशारे को एहसास देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई आहट अलगसी होती है जो जीवन मे हर दिशा को कई किनारों कि पुकार से आगे लेकर चलती है जो जीवन मे एहसासों से कई इरादे दिलाती है वह हर सोच को आवाज देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई बजह अलगसी होती है जो जीवन मे हर कदम को कई इरादों कि तमन्ना से आगे लेकर चलती है जो जीवन मे सपनों से कई इशारे दिलाती है वह हर समझ को पुकार देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई किनारे कि सुबह अलगसी होती है जो जीवन मे हर धारा को कई अंदाज कि दिशा लेकर चलती है जो जीवन मे सुबह से अलग अंदाज दिलाती है वह हर कदम को आवाज देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई कोशिश कि जरुरत अलगसी होती है जो जीवन मे हर इशारे को कई किनारों कि उम्मीदे साथ लेकर चलती है जो जीवन मे उजाले से अलग आवाज दिलाती है वह हर आहट देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई आवाज कि जरुरत अलगसी होती है जो जीवन मे हर कदम को कई एहसासों कि सौगाद लेकर चलती है जो जीवन मे रंगों मे अलग एहसास दिलाती है वह हर इशारे को समझ देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई पुकार कि जरुरत अलगसी होती है जो जीवन मे हर किस्से को कई राहों को अलग इशारों के साथ आगे लेकर चलती है जो जीवन मे इशारों मे अलग रंग दिलाती है वह हर लब्ज को पुकार देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई पहचान कि दिशाए अलगसी होती है जो जीवन मे हर इरादों को कई किनारों से आगे लेकर चलती है जो जीवन मे अलग इशारों में अलग सुबह हर बार हर दिशा मे दिलाती है वह हर इशारे को पहचान देकर जाती है।
हर लम्हा जीवन मे कोई रोशनी कि पुकार अलगसी होती है जो जीवन मे हर किस्से को कई दिशाओं से आगे लेकर चलती है जो जीवन मे अलग किनारे मे अलग रोशनी हर बार हर हवाओं के संग दिलाती है वह हर रोशनी को आवाज देकर जाती है। 

Wednesday, 19 April 2017

कविता. १३६१. हर कागज पे कोई दास्तान लिखी जाती है।

                                  हर कागज पे कोई दास्तान लिखी जाती है।
हर कागज पे कोई दास्तान लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई समझ के साथ अलग सौगाद हर दिशाओं मे दिलाती है वह हर मौके को लब्जों से जोडती जाती है वह हर बार इशारों को अलग लब्ज दिलाती है।
हर कागज पे कोई कहानी लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई किनारों के साथ अलग लब्जों को हर राह मे उजाले दिलाती है वह हर इशारे को कहानी से जोडती जाती है वह हर बार आवाजों को अलग अल्फाज दिलाती है।
हर कागज पे कोई आवाज लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई एहसासों के साथ अलग पलों को हर लम्हे मे एहसास दिलाती है वह हर कदम से जीवन को जोडती जाती है वह हर बार एहसासों को अलग दिशाए दिलाती है।
हर कागज पे कोई निशानी लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई दिशाओं के साथ अलग पुकार को हर आवाज मे कहानी दिलाती है वह हर इरादे को जीवन के साथ तसल्ली से जोडती जाती है वह हर बार उजालों को अलग पहचान दिलाती है।
हर कागज पे कोई दास्तान लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई इशारों के साथ अलग सुबह को हर बार रंगों मे अलग बात दिलाती है वह हर अंदाज को जीवन के संग कई कहानियों के संग जोडती जाती है वह हर बार किनारों को अलग समझ दिलाती है।
हर कागज पे कोई सोच लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई रंगों के साथ अलग किनारे को हर बार इशारों मे अलग एहसास दिलाती है वह हर मौके को लब्जों के संग कई कहानियों कि आवाज से जोडती जाती है वह हर बार इशारों को अलग लब्ज दिलाती है।
हर कागज पे कोई दास्तान लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई एहसासों के साथ अलग उजाले मे एतबार अलगसा दिलाती है वह हर सोच को कई खयालों के संग कई एहसासों मे अलग पुकार सुनाती है वह हर मौके को अलग रोशनी दिलाती है।
हर कागज पे कोई लम्हों कि बात लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई रंगों के संग अलग एतबार मे रोशनी का उजाला अलगसा दिलाती है वह हर इशारे को कई तरह के मतलब देकर आवाज अलग सुनाती है वह हर इशारे को अलग उम्मीद दिलाती है।
हर कागज पे कोई दास्तान लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई किरणों मे कई इशारों को अलग पहचान दिखाती है हर लम्हा जीवन मे लब्जों कि जरुरत हर मकसद को कई तरह कि दिशाए हर मौके पर रोशनी सुनाती है वह हर सुबह को अलग उजाला दिलाती है।
हर कागज पे कोई निशानी लिखी जाती है वह हर बार जीवन मे कई उम्मीदों मे कई इशारों को अलग राह दिखाती है हर किस्सा जीवन मे कई रंगों कि दुनिया मे हर पल को कई तरह से कहानियाँ दिखाकर जाता है हर बार वह हर पल अलग आशा दिलाती है। 

कविता. १३६०. हर आवाज कि पहचान।

                                      हर आवाज कि पहचान।
हर आवाज कि पहचान हर अंदाज के साथ अलग पुकार दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी किनारे को उजाला देने कि जरुरत हर मकसद को उजाला देती है वह हर अंदाज के साथ जीवन कि अलग सुबह दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर किनारे के साथ अलग उजाले दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी राह को समझ देने कि जरुरत हर मौके को अंदाज देती है वह हर किस्से के संग जीवन कि अलग दास्तान दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर सोच के साथ अलग कहानी दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी किनारे को उजाला देने कि जरुरत हर मतलब को पुकार देती है वह हर इशारे के संग जीवन कि अलग सौगाद दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर रोशनी के साथ अलग एहसास दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी आस को समझ देने कि जरुरत हर मकसद को एहसास देती है वह हर खयाल के संग जीवन कि अलग आशाए दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर अंदाज के साथ अलग किनारा दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी नजारे को समझ देने कि जरुरत हर पुकार को रोशनी देती है वह हर सपने के संग जीवन कि अलग दास्तान दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर पुकार के साथ अलग अंदाज दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी इशारे को समझ देने कि जरुरत हर विश्वास को उम्मीद देती है वह हर इशारे के संग जीवन कि अलग रोशनी दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर मौके के साथ अलग सौगाद दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी किनारे को समझ देने कि जरुरत हर मकसद को इशारा देती है वह हर उजाले के संग जीवन कि अलग धाराएं दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर इरादे के साथ अलग पुकार दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी पहचान को समझ देने कि जरुरत हर राह को लम्हा देती है वह हर इशारे के संग जीवन कि अलग सौगाद दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर सुबह के साथ अलग राहे दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी किनारे को एहसास अलगसा देकर जाती है जो जीवन मे हर कदम को आवाज अलगसी सुनाती है वह हर बार अलग रोशनी दिखाती है।
हर आवाज कि पहचान हर किरण के साथ अलग रोशनी दिलाती है वह हर बार जीवन मे किसी उजाले को एहसास अलगसा देकर चलती है जो जीवन मे हर मोड को अलगसी समझ हर पल दिखाती है। 

Tuesday, 18 April 2017

कविता. १३५९. बूँद कई।

                                                       बूँद कई।
हर पानी कि बूँद कई किनारों को किस्मत दिलाती है हर किस्से को एहसास के साथ उजाला दिखाती है वह हर बूँद के साथ कई रंगों कि कहानी बनती है जो जीवन मे कई अंदाज जताती है।
हर पानी कि बूँद कई इशारों के साथ उम्मीद दिलाती है हर किस्से को समझकर आशाए पहचान अलग दिखाती है वह हर किस्से के साथ कई उजालों कि सौगाद बनती है जो जीवन मे कई उम्मीदे जताती है।
हर पानी कि बूँद कई सतरंगी रंगों के साथ जीवन कि उम्मीदों को कहानी दिलाती है हर एहसास को समझकर वह जीवन मे ठंडक दिखाती है वह हर इशारे के साथ कई अंदाजों कि आवाज से उम्मीद जताती है।
हर पानी कि बूँद कई अंदाजों के साथ जीवन कि दास्तान समझ दिलाती है हर बार वह हर किस्से को समझकर कई अंदाजों कि पुकार दिखाती है वह हर कहानी को किरदार देकर नयी रोशनी हर पल जताती है।
हर पानी कि बूँद कई  ठंडक के साथ जीवन को आवाज दिलाती है हर बार वह जीवन को एहसास कुछ अलगसा देकर नयी रोशनी दिखाती है ँ हर बार रंगों कि धाराएं पानी से गुजरती है तब कोई अलग पुकार जताती है।
हर पानी कि बूँद पहचान के साथ जीवन कि पुकार को अलग अंदाज दिलाती है हर बार वह उम्मीद को समझकर कुछ अलगसा विश्वास देकर नयी कहानी दिखाती है वह हर बार किसी धाराओं को अलग समझ जताती है।
हर पानी कि बूँद बदलाव के साथ जीवन मे समझ लेने कि जरुरत हर किस्से मे दिलाती है हर बार वह इशारे को कुछ अलगसा उजाला देकर नयी परख दिखाती है वह हर बार किसी इशारे को अलग किनारा देकर जताती है।
हर पानी कि बूँद किनारे के साथ जीवन मे साँसों को परख लेने कि जरुरत हर राह मे दिलाती है हर बार वह रोशनी को कुछ अलगसा विश्वास देकर नयी आवाज दिखाती है वह हर बार किसी आवाज को अलग पहचान देकर जताती है।
हर पानी कि बूँद सुबह के रंगों जीवन मे किनारों को अंदाज मे कोई पहचान हर मौके मे अक्सर दिलाती है हर बार वह ठंडक के संग एहसास अलगसा दिखाती है वह हर बार किसी किनारे को अलग उजालों कि उम्मीदों कि राह रोशनी देकर जताती है।
हर पानी कि बूँद कई तरह के एहसासों मे समझ अलगसी देती है वह कोई रोशनी को हर आहट दिलाती है हर बार वह किनारे के संग अलगसा विश्वास दिखाती है वह हर बार किसी कहानी को बदलाव दिखाकर उम्मीद कि किरण रोशनी देकर जताती है। 

कविता. १३५८. हर एहसास कि कोई।

                                                     हर एहसास कि कोई।
हर एहसास कि कोई धारा हर बार दुनिया को कई किनारों से आगे लेकर चलती है जो जीवन मे कई किस्सों को अलग रोशनी दिखाती है जो जीवन मे हर धारा को कदमों कि आहट अलगसी हर पल देती है।
हर एहसास कि कोई बजह हर बार किनारों को कई इरादों से आगे लेकर चलती है जो जीवन मे कई राहों को अलग पुकार दिखाती है जो जीवन मे हर इशारे को अंदाजों कि दुनिया अलगसी हर लम्हा देती है।
हर एहसास कि कोई प्यास हर बार दिशाओं को कई उजालों से होती है वह हर पुकार को आगे लेकर चलती है जो जीवन मे कई खयालों को अलग आवाज दिखाती है जो जीवन मे हर किस्से को उजाला हर मौके पर देती है।
हर एहसास कि कोई समझ हर बार लब्जों को कई आशाओं से होती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया लेकर चलती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग उजाला दिखाती है जो जीवन मे हर कदम कि जरुरत देती है।
हर एहसास कि कोई कहानी हर बार किनारों को कई इशारों से होती है जो जीवन मे कई लम्हों कि राह लेकर चलती है जो जीवन मे कई कहानियों को अलग किरदार दिखाती है जो जीवन मे हर दिशा कि एक जरुरत देती है।
हर एहसास कि कोई पुकार हर बार राहों को कई दिशाओं से होती है जो जीवन मे कई किरणों कि जरुरत लेकर चलती है जो जीवन मे कई अंदाजों को अलग एहसास दिखाती है जो जीवन मे हर किस्से को एक मतलब देती है।
हर एहसास का कोई अंदाज हर बार मौकों को कई आशाओं से होता है जो जीवन मे कई किनारों कि पहचान लेकर चलता है जो जीवन मे कई उम्मीदों को अलग राह दिखाता है जो जीवन मे हर कदम को एक मकसद देता है।
हर एहसास कि कोई पहचान हर बार रोशनी को कई उजालों से होती है जो जीवन मे कई इशारों कि आवाज को आगे लेकर चलती है जो जीवन मे कई मकसदों को अलग उजाला दिखाती है जो जीवन मे हर बात को एक कहानी देती है।
हर एहसास कि कोई आस हर बार बातों को कई लब्जों से होती है जो जीवन मे कई पुकारों कि आवाज को आगे बढती है जो जीवन मे कई लम्हों को अलग पहचान दिखाती है जो जीवन मे हर किस्से को एक आवाज देती है।
हर एहसास कि कोई बजह हर बार खयालों को कई किनारों से होती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया को आगे लेकर चलती है जो जीवन मे कई रंगों को उजाला अलग सुबह दिखाती है जो जीवन मे हर कदम को एक पहचान देती है। 

Monday, 17 April 2017

कविता. १३५७. हर कदम पर किसी के।

                                                 हर कदम पर किसी के।
हर कदम पर किसी के साथ कि आदत तो होती है पर वह इन्सान कि जरुरत नही होती है लहरों को खुद ही अपने अंदाज मे चलने कि आदत होती है वह हर बार अपने किनारों से अपने अंदाज मे टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के होने से मदद तो मिलती है पर वह बात जीवन कि अहमियत नही होती है क्योंकि अपनी राह चुनने कि सबको अक्सर आदत रहती है जो जीवन मे कई रंगों को पहचान देकर टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के एहसासों से आगे जाने कि उम्मीदे मिलती है पर वह इशारे कि सौगाद हर बार नही होती है वह कई आवाजों के साथ अलग पहचान देती रहती है जो जीवन मे कई किस्सों मे अलग पुकार के संग टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के अंदाज से आगे बढने कि पुकार मिलती है पर वह एहसासों कि समझ हर मौके देकर चलती है पर उसकी जरुरत नही होती है क्योंकि जीवन मे वह भी राह रहती है जो कई अंदाजों से उम्मीदों से टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के साथ से आगे चलने कि आशाए मिलती है पर वह सोच कि पहचान हर बार वही नही होती है कई बार मजबूती से चलने से हर राह अपनी आशाए खुदसे बनाती जाती है जिनसे उम्मीदे हर पल टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के साथ से आगे जाने कि जरुरत मिलती है पर वह जरुर खुशियाँ तो देती है पर इतनी जरुरी नही होती है क्योंकि कई बार लोगों मे उसकी बजह से राह बदलकर जाने कि आदत हो जाती है वह गलत राह मुसीबतों से ही बस टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के बात से आगे चलने कि जरुरत मिलती है पर वह रंगों कि अलग सौगाद देती है पर उसकी अहमियत सच्चाई से ज्यादा नही होती है क्योंकि सच्चाई के रंगों कि ताकत हर मुश्किल से अक्सर टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के आवाज से आगे बढने कि उम्मीदे मिलती है पर वह खयालों को अलग एहसास कि पूँजी हर बार देती है जो जीवन मे सही ना हो तो उसकी जरुरत नही होती है जीवन कि लहरे खुदही मंजिल से टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के साथ से आगे चलने कोशिश मिलती है पर वह कोशिश किसी खयाल के सही होने कि उम्मीद से ही अच्छी होती है कई लोगों कि गलत कोशिश से एक इन्सान कि सही कोशिश जाने कितने तूफानों से टकराती रहती है।
हर कदम पर किसी के संग उजाले कि उम्मीदे मिलती है पर वह जब तक अच्छाई ना सिखाये वह काफी नही होती है वह कई किस्सों को अलग राह देती है जो सही नहीं होती है उस से ज्यादा खुदकी अलग राह ही मंजिल से टकराती रहती है। 

कविता. १३५६. हर किरण को आसमान से गुजरकर।

                                                हर किरण को आसमान से गुजरकर।
हर किरण को आसमान से गुजरकर आगे बढते जाने कि जरुरत रहती है जो जीवन मे किरणों को कई दिशाओं से अंदाज अलगसे देती है वह हर बार किरणों से आगे चलकर बढती चलती है।
हर किरण को आसमान  से गुजरकर नयी दुनिया खोजने कि जरुरत रहती है जो जीवन मे कई रंगों को कई उजालों से उम्मीद के किनारे अलगसे देती है वह हर बार किरणों से आगे बढने कि ताकत देकर चलती है।
हर किरण को आसमान से गुजरकर आगे चलने कि जरुरत रहती है जो जीवन मे कई एहसासों को कई तरह कि रोशनी कि पुकार कई अंदाज अलगसे देती है वह हर बार आकाश के किसी कोने से अलग रोशनी चलती है।
हर किरण को आसमान  से गुजरकर आगे बढकर एहसासों को समझ लेने कि अहमियत रहती है जो हर किस्से के संग उजाले कई तरह के दिलाती जाती है वह हर इशारे मे दुनिया को ढूँढती हुई आगे चलती है।
हर किरण को आसमान से गुजरकर आगे जाने कि जरुरत हर मौके को पहचान देती रहती है जो जीवन मे हर एहसासों को अंदाज अलगसे दिलाती जाती है वह हर रोशनी को पुकार अलगसी दिखाकर चलती है।
हर किरण को आसमान से गुजरकर आगे चलने कि कोशिश हर किनारे को देती रहती है वह हर रंग मे बादल को सपनों कि चाबी देकर चलती है वह हर इशारे को कई रंगों कि पहचान हर किस्से मे देकर चलती है।
हर किरण को आसमान से गुजरकर आगे बढने कि उम्मीदे हर राह को इशारा देती रहती है वह हर सुबह मे बादलों को कई कहानियों के साथ समझ देकर चलती है वह हर किनारे को अलग पहचान देकर चलती है।
हर किरण को आसमान से गुजरकर आगे चलने कि जरुरत हर मकसद को उजाला देती रहती है वह हर बादलों को कई रंगों कि दुनिया हर मौके पर अलग एहसास देकर चलती है वह हर इशारे को अलग सुबह देकर चलती है।
हर किरण को आसमान से गुजरकर आगे जाने कि जरुरत हर रोशनी को किनारा देती रहती है वह हर बादलों को कई तरह के अंदाज दिखाती है वह हर मोड पर अलग कहानी देकर चलती है वह हर किस्से को अलग रंग देकर चलती है।
हर किरण को आसमान से गुजरकर आगे चलने कि जरुरत हर एहसास को अंदाज के साथ नयी सुबह देती रहती है वह हर मौके के लिए उजाला दिलाती है वह आसमान को बादलों कि पहचान हर मौके को अलग एहसास देकर चलती है। 

Sunday, 16 April 2017

कविता. १३५५. हर बार एहसासों कि खुशबू।

                                              हर बार एहसासों कि खुशबू।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग कहानी बताती है जो हर किरदार को अलग दिशाए देकर जाती है वह हर एहसास को खुशबू कुछ ऐसी दे जाती है वह खयाल को जज्बात कि दुआएं समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग किनारे का एहसास बताती है जो हर किस्से को अलग उजाला देकर जाती है वह हर मौके को पहचान कुछ ऐसी दे जाती है वह हर इशारे कि आवाज को पुकार के संग समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग इशारा बताती है जो हर एहसास को अलग इशारा हर मौके पर देकर जाती है वह हर आवाज को अलग एहसास के साथ नयी रोशनी दे जाती है वह जीवन को अलग राह समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग दिशाओं को किनारा बताती है जो हर मौके को अलग किनारा देकर जाती है वह हर इशारे को परखकर रोशनी कि सौगाद दे जाती है वह हर दिशा को अलग राह समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग किनारे को प्यास बताती है जो हर बार जीवन को अलग दिशाए देकर जाती है वह हर उजाले को कोई पहचान दे जाती है वह हर इशारे को कोई मकसद हर बार समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग राहों को एहसास बताती है जो हर बार जीवन को अलग इशारों से इरादे देकर जाती है वह हर इशारे को कोई रोशनी दे जाती है वह हर राह को अलग किनारे से नयी बात समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग कदमों को ताकत देकर उम्मीदों कि कहानी बताती है जो हर बार किस्सों को अलग रोशनी देकर जाती है वह हर इरादे को कोई दिशा दे जाती है वह हर खयाल को अलग मोड से नयी आवाज समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग इशारों को पहचान देकर चलती है जो जीवन मे कई रंगों को उजाला दिखाकर चलती है वह हर राह को हर लम्हा कोई मतलब देकर जाती है वह हर सोच को अलग किनारे से नयी पुकार समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग किनारों को कोशिश देकर चलती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग इशारों कि सौगाद दिखाकर चलती है वह हर कहानी को कोई अलग एहसास देकर जाती है वह अलग दिशाए समझाती है।
हर बार एहसासों कि खुशबू कुछ अलग इरादे को किरण देकर चलती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया मे अलग मकसद दिखाकर चलती है वह हर इशारे को कोई अलग सुबह देकर जाती है वह अलग एहसास को उम्मीद कि राह समझाती है। 

कविता. १३५४. हर बार राहों को समझ लेने कि।

                                      हर बार राहों को समझ लेने कि।
हर बार राहों को समझ लेने कि आस हर किनारे को अलग पुकार दिलाती है जो हर राह को कई किनारे देकर जाती है वह हर बार एहसासों को अलग पहचान दिखाती है वह हर इशारे मे कोई पहचान कि परख देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि जरुरत हर इशारे को अलग सुबह दिलाती है जो हर इशारे को कई उजाले देकर जाती है वह हर बार किनारों को अलग उजाला दिखाती है वह हर सोच मे कोई आवाज कि उम्मीदे देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि अहमियत हर सुबह को अलग किनारा दिलाती है जो हर किस्से को एहसास देकर जाती है वह हर बार इशारों को अलग एहसास दिखाती है वह हर मौके को कोई खयाल देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि आस हर आवाजों को अलग सुबह दिलाती है जो हर समझ को आवाज देकर जाती है वह हर बार उजालों को अलग दुआएं दिखाती है वह हर सोच को कोई एहसास कि दुआएं देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि परख हर कोशिश को अलग मतलब दिलाती है जो हर किस्से को पुकार देकर जाती है वह हर बार किनारों को अलग आशाएं दिखाती है वह हर इशारे कि जरुरत को पहचान देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि जरुरत हर मौके को अलग उजाला दिलाती है जो हर एहसासों को अंदाज देकर जाती है वह हर बार इरादों को अलग पहचान दिखाती है वह हर उजाले कि जरुरत को नया इतबार देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि आस हर आवाज को अलग रोशनी दिलाती है जो हर किस्से को एहसास देकर जाती है वह हर बार लम्हों को अलग इशारा दिखाती है वह हर कदम कि धारा को नया एहसास देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि जरुरत आवाज को अलग पहचान दिलाती है जो हर इशारे को पुकार देकर जाती है वह हर बार किनारों को अलग एहसास के अलग इशारे दिखाती है वह हर उजाले को मतलब देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि जरुरत एहसासों को अलग दिशाए दिलाती है जो हर मौके को उजाला देकर जाती है वह हर बार इशारों को अलग पहचान के साथ उम्मीदे दिखाती है वह हर राह को मकसद देकर जाती है।
हर बार राहों को समझ लेने कि जरुरत आवाजों को अलग किनारा दिलाती है जो हर लब्ज के अंदर मुस्कान देकर जाती है वह हर बार किनारों को अलग पहचान के धून दिखाती है वह हर इशारे को मतलब देकर जाती है। 

Saturday, 15 April 2017

कविता. १३५३. हर खयाल को बार बार।

                                               हर खयाल को बार बार।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया आगे चलती है वह कई बार खयालों को अलग आवाज देती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया देकर जाती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग किनारा देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर मौके पर आगे चलती है वह कई बार किनारों को अलग इशारों के साथ एहसास देती है जो जीवन मे कई एहसासों कि दुनिया देकर जाती है जो जीवन मे कई इशारों को अलग पहचान देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर इशारे पर आगे चलती है वह कई बार दिशाओं को अलग सुबह के साथ पहचान देती है जो जीवन मे कई दिशाओं कि सुबह देकर जाती है जो जीवन मे कई धाराओं को अलग उजाला देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर इशारे पर नयी समझ देकर चलती है वह कई बार खयालों को अलग आवाज देती है जो जीवन मे कई राहों कि पहचान हर मौके को अलग समझ देकर जाती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग परख देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर लहर पर एहसास देकर चलती है वह कई दिशाओं को मतलब देती है जो जीवन मे कई रंगों को उजाले कि पहचान हर मौके को अलग आवाज देकर जाती है जो जीवन मे कई रंगों को एहसास देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर जज्बात पर रोशनी देकर चलती है वह कई किनारों को अलग किस्मत देती है जो जीवन मे कई इरादों को दिशाओं कि आवाज अलग किनारे से देकर जाती है जो जीवन मे कई एहसासों को नयी रोशनी देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर मौके पर एहसास देकर चलती है वह हर अंदाज को अलग एहसास के साथ उम्मीद देती है जो जीवन मे कई एहसासों को पुकार कि अलग जरुरत देकर जाती है जो जीवन मे कई राहों को नयी पुकार देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर सुबह पर एहसास देकर चलती है वह हर इरादे को कोई आवाज कि सुबह हर इशारे पर रोशनी देती है जो जीवन मे कई रंगों को एहसास अलगसा देकर जाती है जो जीवन मे कई किनारों को नयी रोशनी देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर किनारे पर पुकार देकर चलती है वह हर इशारे को कोई ताकत कि पुकार हर एहसास को देती है जो जीवन मे कई उम्मीदों को अलगसी धारा देकर जाती है जो जीवन मे कई रंगों को नयी पुकार देती है।
हर खयाल को बार बार परखकर दुनिया हर मौके पर कुछ एहसास देकर चलती है वह हर किस्से को कोई आवाज कि सौगाद हर पल देती है जो जीवन मे कई रंगों को अलगसी उजाले कि धारा देकर जाती है जो जीवन मे कई राहों को नयी रोशनी देती है। 

कविता. १३५२. हर कहानी को मकसद देकर आगे।

                                          हर कहानी को मकसद देकर आगे।
हर कहानी को मकसद देकर आगे जाने कि जरुरत होती है हर खयाल को जब कहानी किरदारों के साथ आगे लेकर जाती है वह अलग एहसास के अंदर साथ देती है जो जीवन मे पुकार को अलग रोशनी दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे बढने कि जरुरत होती है हर रंगों को जब जीवन का अलग उजाला देती जाती है वह हर मकसद के साथ अलग पुकार देती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग उजाला दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे चलने कि जरुरत होती है हर नजारे को जब वह समझ दिलाती है जब वह अक्सर उजाला देती जाती है वह हर मौके के साथ अलग पुकार हमे विश्वास देती है जो जीवन मे कई रंगों को रोशनी दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे जाने कि जरुरत होती है हर अंदाज को जब वह धारा पहचान दिलाती है जब वह अक्सर राह को मतलब देती जाती है वह हर किस्से के साथ अलग सौगाद देती है जो जीवन मे कई लम्हों को पुकार दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे जाने कि जरुरत एक अहमियत होती है हर खयाल को जब वह किनारा हर मौके पर दिलाती है जब वह अक्सर जीवन को पहचान देती जाती है वह हर इशारे को अलग रोशनी देती है जो जीवन मे कई रंगों को उजाला दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे जाने कि जरुरत पहचान होती है हर सौगाद को जब वह खयाल कि ताकत दिलाती है वह रोशनी को हर पल देती है वह जीवन मे कई एहसासों को परख हर धारा के संग अक्सर हर मौके पर दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे जाने कि जरुरत होती है हर खयाल को जब वह उजाला समझ देता है तब उसकी पहचान रोशनी दिलाती है वह जीवन मे कई रंगों को एहसास का अलग विश्वास बताती है वह हर इशारे पर रोशनी दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे जाने कि जरुरत होती है हर लम्हे को जब वह पहचान लेती है वह हर लब्ज के अंदर कोई अलग पुकार दिलाती है वह जीवन मे कई किनारों कि पुकार को समझाती है वह हर किस्से पर उम्मीदों का उजाला दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे जाने कि जरुरत होती है हर इरादों को जब वह आशाए दिखाकर चलती है वह हर रंग को अलग किनारा दिलाती है वह जीवन मे हवाओं कि आवाज बनकर रोशनी का मतलब समझाती है वह उम्मीद दिखाती है।
हर कहानी को मकसद देकर आगे जाने कि जरुरत हर पल होती है हर रोशनी को जब वह नयी पहचान हर कदम पर कोई इरादा दिलाती है वह जीवन मे कई रंगों कि धाराएं समझाकर आवाज मे नया उजाला समझाती है वह रोशनी दिखाती है। 

Friday, 14 April 2017

कविता. १३५१. हर इशारे के संग।

                                               हर इशारे के संग।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि प्यास बढती है जो जीवन मे कई रंगों को अलग किनारे के जज्बात हर मौके पर देती है हर इशारे मे जीवन कि आस होती है जो जीवन मे कई अंगारों को अलग एहसास हर मौके पर देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि उम्मीद बढती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग पहचान के साथ हर पल पर देती है हर इशारे मे जीवन कि आशाए होती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग उजाला हर रोशनी देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि आस बढती है जो जीवन मे कई खयालों को अलग इरादे के साथ हर सुबह पर उम्मीदे देती है हर मौके मे जीवन कि सौगाद होती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग किनारा हर परख के साथ देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि सौगाद बढती है जो जीवन मे कई उजालों को अलग इशारे के साथ लब्जों कि पहचान देती है हर रोशनी कि आहट जरुरी होती है जो जीवन मे कई राहों को अलग सौगाद हर पल के साथ देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि रोशनी बढती है जो जीवन मे कई खयालों को अलग इतबार के साथ समझ कि पहचान देती है हर एहसास कि आवाज अलग किनारे को समझ देकर अलग राह को पहचान कि पुकार देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि सौगाद बढती है जो जीवन मे कई राहों को अलग आसमान पुकार के साथ देती है वह हर किस्से को समझकर अलग तरीकों से इतबार दिखाती है वह हर बार कदमों को अलग इशारा देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि सुबह बढती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग पहचान के साथ देती है वह हर सुबह को कई रंगों कि दुनिया दिखाकर अलग रोशनी से एहसास दिखाती है वह हर बार लब्जों को अलग कदम देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि राह बढती है जो जीवन मे कई रंगों को अलग उजाले हर इरादे के साथ देती है वह हर इरादे मे कोई इशारा हर मौके पर दिखाती है वह हर बार जीवन मे मौकों को उम्मीदों कि मुस्कान अलग राहों से देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि दास्तान बढती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग पहचान कि उम्मीदे देती है वह हर इशारे को किसी किस्से कि आवाज दिलाती है वह हर बार जीवन मे कोई अलग सौगाद हर पल मे अक्सर देती है।
हर इशारे के संग हमारे जीवन कि दुआएं बढती है जो जीवन मे कई तरह कि सोच को अलग लब्ज हर किनारे मे देती है वह हर एहसास को किसी पुकार कि ताकत दिलाती है वह हर बार जीवन मे कोई अलग एहसास को हर रोशनी कि अलग पुकार देती है। 

कविता. १३५०. हर कदम को अलग।

                                                हर कदम को अलग।
हर कदम को अलग मतलब हर किनारे को मतलब देकर जाती है वह हर मौके को पहचान अलगसी दिखाती है हर राह को हर लम्हा कदमों कि आहट हर बार जीवन मे किसी किनारे को अलग पुकार कि आवाज हर बार होती है।
हर कदम को अलग मकसद हर पहचान को एहसास देकर जाती है वह हर राह को पुकार अलगसी दिखाती है हर मौके को हर रंग इशारों कि आहट हर बार देता है जीवन मे किसी रोशनी को अलग एहसास कि पहचान हर बार होती है।
हर कदम को अलग आवाज हर इशारे को मकसद देकर जाती है वह हर पुकार को रोशनी अलगसी दिखाती है हर इरादे को हर सोच कि पुकार हर बार जीवन मे किसी किनारे को अलग मतलब कि सोच हर बार होती है।
हर कदम को अलग एहसास हर मोड को परख देकर जाती है वह हर इशारे को समझकर अलगसी राह दिखाती है हर किस्से को हर परख कि आवाज हर बार मे किसी खुशी को अलग मकसद कि रोशनी हर बार होती है।
हर कदम को अलग कोशिश हर याद को एहसास कि समझ देकर जाती है वह हर मौके को उजाला देने कि जरुरत दिखाती है हर किस्से को हर लम्हे कि सोच मे किसी अंदाज को अलग दिलचस्प बात बनाने कि कोशिश हर बार होती है।
हर कदम को अलग मतलब हर एहसास को याद कि समझ देकर जाती है वह हर इशारे को अलग पहचान हर मौके पर दिखाती है हर किस्से को हर अंदाज कि आवाज मे किसी कहानी को मकसद देने कि जरुरत हर बार होती है।
हर कदम को अलग दिशाओं के साथ हर सुबह को याद कि पहचान उजाले कि रोशनी देकर जाती है जो हर आवाज के साथ कदमों को हर लम्हा कोई किस्सा दिखाता है हर आवाज को पहचान कि जरुरत हर बार होती है।
हर कदम को अलग मतलब हर इशारे के साथ हर रंगों कि दुनिया हर बार आगे लेकर जाती है वह हर किस्से को अलग एहसास के उजाले के साथ समझ दिखाती है हर किस्से को एहसास कि परख हर बार होती है।
हर कदम को अलग राह हर किस्से के साथ हर किनारों कि जरुरत हर बार रहती है जो जीवन मे उम्मीदे दे जाती है वह हर मौके को अलग एहसास दिखाती है वह हर दिशा को अलगसी आहट देती है जो हर कदम कि उम्मीद हर बार होती है।
हर कदम को अलग मतलब हर एतबार के साथ हर दिशाओं कि सुबह हर बार उम्मीदों मे देती रहती है वह हर किस्से को अलग इरादे को अलग रोशनी दिखाती है वह हर सोच को अलगसी पहचान देती है जो उजाले मे हर बार होती है। 

Thursday, 13 April 2017

कविता. १३४९. खुशबू कुछ अलग।

                                                   खुशबू कुछ अलग।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग एहसास बताती है वह हर बार कदम पर एहसास जुदा देती है जो जीवन मे अलग किनारे को प्यास दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों को एहसास अलगसा दिखाती है वह पुकार दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग हवाओं का किनारा बताती है वह हर लम्हे के अंदर कोई अलग पुकार देती है जो जीवन मे खुशबू के एहसास दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों कि पहचान दिखाती है वह सोच दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग पहचान बताती है वह हर इशारे के अंदर कोई अलग सुबह हर बार देती है जो जीवन मे कई रंगों के साथ दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों कि दुनिया दिखाती है वह रोशनी दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग उजाला बताती है वह हर किस्से के अंदर कोई अलग एहसास को आवाज हर बार देती है जो जीवन मे कई लम्हों के साथ नयी रोशनी दिखाती है जो जीवन मे कई अंगारों कि ताकत हर बार दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग पुकार बताती है वह हर इशारे के अंदर कोई अलग उजाला हर मौके पर अक्सर देती है जो जीवन मे कई रंगों के साथ नये कुदरत के एहसास दिखाती है वह उजाला हर पल दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग किनारे को नयी शुरुआत बताती है जो कुदरत के कई किस्सों को अलग रोशनी देती है जो जीवन मे फूलों कि रोशनी को अहमियत जताती है जो जीवन मे फूलों कि खुबसूरती हर मौके पर उजाला दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग कदमों को नयी राह बताती है जो हर किस्से के कई किनारों को अलग समझकर हर मौके पर उम्मीदे देती है जो जीवन मे फूलों को कई एहसासों के संग अलगसा विश्वास देती है जो हर किस्से पर उजाला दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग राह को नयी पुकार बताती है जो हर कदम के कई किनारों को अलग उजाला देती है जो जीवन मे रंगों को कई किसम कि पहचान के संग अलगसा एहसास देती है जो हर किनारे पर उजाला दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग इरादे को नयी दिशा बताती है जो हर इशारे के संग कई किस्सों को अलग रोशनी देती है जो जीवन मे एहसासों को कई इशारों कि समझ के संग अलगसा विश्वास देती है जो हर इशारे पर उजाला दिलाती है।
हर बार फूलों कि खुशबू कुछ अलग खयाल को नयी समझ बताती है जो हर रंग के संग कई किस्सों को अलग पहचान देती है जो जीवन मे सोच को कई इशारों को अलग खयाल के संग अलगसा एहसास देती है जो हर किनारे पर उजाला दिलाती है। 

कविता. १३४८. हर खयाल मे कुछ बात।

                                                           हर खयाल मे कुछ बात।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर छुपी रहती है जो हर जज्बातों मे नयी आँधी लेकर आती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग दुआएं दिलाती है वह हर खयाल को जब आगे लेकर जाती है अलग राह हर मोड पर नजर आती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर उजाला देती रहती है जो हर किनारे मे नयी पहचान लेकर आती है वह हर दिशा को अलग कहानियों के साथ अलग एहसास दिलाती है वह हर खयाल को जब समझ लेते है तो आगे लेकर जाती है वह जीवन मे रोशनी लाती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर उम्मीद देती रहती है जो हर राह मे नयी उम्मीद लेकर चलती है वह हर इशारे को अलग पुकार के साथ अलग किनारे दिलाती है वह हर इशारे को जब समझ लेते है तो आगे लेकर चलती है वह उम्मीदों के साथ आती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर इशारा देती रहती है जो हर किस्से मे नयी राह लेकर चलती है जो जीवन मे कई एहसासों को परख अलगसी देकर चलती है वह हर किनारे को उजाला दिलाती है वह जीवन के एहसासों को अलग पहचान के साथ लाती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर रोशनी देती रहती है जो हर इशारे मे नयी सुबह लेकर चलती है जो जीवन मे कई रंगों को परख अलगसी दिखाकर उम्मीद देकर चलती है वह हर इशारे को दिशा दिलाती है वह जीवन के अलग इशारों के साथ आती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर रोशनी देती रहती है जो हर आवाज मे नयी कहानी लेकर चलती है जो जीवन मे कई एहसासों को आवाज अलगसी समझाकर चलती है वह हर किनारे को उजाला दिलाती है वह जीवन के हवाओं के साथ आती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर पहचान देती रहती है जो हर किनारे मे नयी आवाज लेकर चलती है वह हर सोच को हर किनारे के संग अलगसा विश्वास देकर चलती है वह हर मौके को पहचान दिलाती है वह जीवन के पहचान के साथ आती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर मुस्कान देती रहती है जो हर आवाज मे नयी सोच लेकर चलती है वह हर इशारे को अलग लब्जों कि ताकत हर राह पर देकर चलती है वह हर किस्से को अलग इरादा दिलाती है वह जीवन के रोशनी को एहसासों के साथ लाती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर खुशियाँ देती रहती है जो हर किस्से मे नयी सौगाद लेकर चलती है वह हर किनारे को अलग उजाले कि आहट हर पल पर जीवन मे दिखाकर जाती है वह हर सोच को अलग खयाल दिलाती है वह जीवन मे इशारों के साथ आती है।
हर खयाल मे कुछ बात तो अक्सर पहचान देती रहती है जो हर इशारे मे नयी सुबह देकर चलती है वह जीवन मे कई रंगों को अलग राह दिखाती है वह हर कदम पर जीवन के एहसासों को अलग पहचान दिलाती है वह हवाओं मे उजाले के साथ आती है। 

Wednesday, 12 April 2017

कविता. १३४७. हर हवा के संग अलगसा।

                                                   हर हवा के संग अलगसा।
हर हवा के संग अलगसा एहसास जीवन कि दास्तान हर बार दिलाती है वह हर बार मौसम के बदलाव के संग अलगसा एहसास दिखाती है वह हर मौके को जीवन कि अलग दास्तान दिलाती है जो जीवन मे एहसास दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा विश्वास जीवन कि प्यास हर बार दिलाती है वह हर बार किस्से के साथ जीवन के संग अलगसा अंदाज दिखाती है वह हर इशारे को जीवन कि अलग पुकार दिलाती है जो जीवन मे आस दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा एतबार जीवन कि धारा हर बार दिलाती है वह हर बार जीवन के साथ पहचान के संग अलगसा एहसास दिखाती है वह हर सोच को जीवन कि अलग सौगाद दिलाती है जो जीवन मे लम्हे दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा किनारा जीवन कि पुकार हर बार दिलाती है वह हर बार इशारे के साथ एहसास के संग अलगसा इशारा दिखाती है वह हर राह को जीवन कि अलग इरादा दिलाती है जो जीवन मे उजाले दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा एहसास जीवन कि दास्तान हर बार दिलाती है वह हर बार रोशनी के साथ पहचान उजाले के संग पुकार दिखाती है वह हर इशारे को जीवन कि अलग धारा दिलाती है जो जीवन मे सुबह दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा किनारा जीवन कि पहचान हर बार दिलाती है वह हर बार मौके के साथ एहसास के संग रोशनी दिखाती है वह हर इरादे को जीवन कि अलग दुआ दिलाती है जो जीवन मे हर किरण मे उम्मीदे दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा एतबार जीवन कि सौगाद हर बार दिलाती है वह हर बार इशारे के साथ किनारों के संग उजाला दिखाती है वह हर किस्से को जीवन कि अलग पहचान दिलाती है जो जीवन मे हर रंग मे कदम दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा इशारा जीवन कि प्यास हर बार दिलाती है वह हर बार रोशनी के साथ जीवन के संग इरादों मे उम्मीद दिखाती है वह हर कदम को जीवन कि अलग निशानी दिलाती है जो जीवन मे हर मौके मे मकसद दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा एहसास जीवन कि सौगाद हर बार दिलाती है वह हर बार इशारे के संग जीवन के इतबार को पुकार हर मौके पर दिखाती है वह हर एहसास को जीवन कि अलग दास्तान दिलाती है जो जीवन मे हर  कदम मे उजाले दिखाती है।
हर हवा के संग अलगसा किनारा जीवन कि आस हर बार दिलाती है वह हर बार किस्से के संग जीवन के एहसासों को जिन्दगी हर इशारे पर दिखाती है वह हर मौके को जीवन कि सौगाद अलग रोशनी दिलाती है जो जीवन मे हर इशारे मे किस्से दिखाती है। 

कविता. १३४६. हर लब्ज के अंदर कहानी।

                                                    हर लब्ज के अंदर कहानी।
हर लब्ज के अंदर कहानी को बदलाव कि पुकार मिलती है जो जीवन मे हर खयाल को अलगसी धारा देती है जो लब्जों के सहारे जीवन मे कई रंगों कि धाराएं हर पल को दिखाती है वह रोशनी हर पल के साथ दे जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को समझ कि पुकार मिलती है जो जीवन मे हर हवाओं को अलगसी उम्मीद देती है जो लब्जों के सहारे जीवन मे कई एहसासों कि दिशाए हर मौके पर उजाला देती है हर किस्से के साथ पहचान देकर जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को समझ कि पुकार मिलती है जो जीवन मे हर किरणों को अलग किसम कि रोशनी हर इशारे मे देती है जो लब्जों के सहारे जीवन मे कई एहसासों को हर लम्हा देती है हर इशारे के संग आवाज देकर जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को एहसास कि आवाज मिलती है जो जीवन मे हर खयाल को अलग जज्बात कि धाराओं को एहसास अलगसा देकर जाती है जो जीवन मे कई रंगों को उजाला दिखाकर उम्मीदे देकर जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को किनारों कि आवाज मिलती है जो जीवन मे हर एहसास को अलग रोशनी हर पल के साथ जिन्दगी देकर जाती है जो जीवन मे कई किस्सों को अलग किनारों से उजाला देकर जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को बदलाव कि आवाज मिलती है जो जीवन मे हर कदम को अलग सोच हर मौके के साथ अक्सर देकर जाती है जो जीवन मे कई दिशाओं को अलग मतलब कि कहानी देकर जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को एहसासों कि दिशाए मिलती है जो जीवन मे हर मौके को अलग पहचान हर राह के साथ अक्सर देकर जाती है जो जीवन मे कई रंगों को अलग इशारों के साथ उम्मीद देकर जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को इशारों कि उम्मीदे मिलती है जो जीवन मे हर कदम को अलग किनारा हर किस्से के साथ अक्सर देकर जाती है जो जीवन मे कई राहों मे कई एहसासों को अलग रोशनी के साथ उजाला देकर जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को रंगों कि पहचान मिलती है जो जीवन मे हर किस्से को अलग अंदाजों मे हर बार इशारे के साथ किनारा अक्सर देकर जाती है जो जीवन मे कई इशारों मे कई एहसासों कि दिशाए हर मौके पर देकर जाती है।
हर लब्ज के अंदर कहानी को विश्वास कि पहचान मिलती है जो जीवन मे हर इशारे को अलग उजाला हर बार मौके के साथ देकर जाती है जो जीवन मे कई रंगों मे कई एहसासों कि पुकार हर पहचान पर देकर जाती है। 

Tuesday, 11 April 2017

कविता. १३४५. बारीश कि बूँदों कि।

                                              बारीश कि बूँदों कि।
बारीश कि  बूँदों मे ठंडक जीवन कि सौगाद दिलाती है जो जीवन मे हर ठंडक कि आस हर किनारे को अलग एहसास दिखाती है जो जीवन मे ठंडक कि जरुरत हर मौके पर समझ दिलाती है जो जीवन मे बूँद को मतलब दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि याद जीवन कि दिशाए दिलाती है जो जीवन मे कई इशारों को अलग पहचान हर इशारे मे दिखाती है जो जीवन मे कई हवाओं को अलग बदलाव दिलाती है वह जीवन मे हर राह को हर लम्हा मकसद दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि समझ जीवन कि दास्तान दिलाती है जो जीवन मे कई मौसम को अलग किनारा हर मौके मे दिखाती है जो जीवन मे कई किस्सों को अलग जज्बात दिलाती है वह हर राह पर अलग इशारों के संग उम्मीद दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि परख जीवन कि प्यास दिलाती है जो जीवन मे कई रंगों को एहसास अलगसा देकर नयी रोशनी दिखाती है जो जीवन मे कई लम्हों को अलग सौगाद दिलाती है वह हर धारा के संग कहानी दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि सुबह कि आवाज कई रंग दिलाती है जो जीवन मे कई एहसासों को पुकार कि अलगसी पहचान दिखाती है जो जीवन मे कई खयालों को अलग किनारों से उम्मीद दिलाती है वह हवाओं मे उजाले दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि पुकार कि समझ कई इशारे दिलाती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग उजाला हर बार दिखाती है जो जीवन मे कई दिशाओं को अलग मतलब हर पल दिलाती है वह उम्मीदों मे नये इशारे दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि आवाज उनके रुक जाने का मतलब दिलाती है जो जीवन मे कई इशारों को अलग पहचान दिखाती है जो जीवन मे कई तरह कि रोशनी को अलग किस्से को हर मौके को मतलब दिलाती है वह हवाओं मे नये इरादे दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि जरुरत हर मकसद को आगे बढने का मतलब दिलाती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग उजाला दिलाती है वह इशारों मे कई तरह कि रोशनी अक्सर दे जाती है वह हर आवाज के एहसासों को अलग पहचान दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि आवाज हर पल को आगे बढने कि उम्मीदे दिलाती है जो जीवन मे हर बार अपना इन्तजार दिखाती है हर पल को कोई असर दिलाकर चलती है क्योंकि हर बूँद को अलग प्यास कि जरुरत रहती है जो जीवन मे अलग किनारा दिलाती है।
बारीश कि बूँदों कि समझ हर मौके को आगे लेकर जाती है जिनमे जीवन कि सोच अलग प्यास दिलाती है क्योंकि बूँदों से भी हर किनारे को एक अलग पहचान मिलती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग रोशनी दिलाती है। 

कविता. १३४४. हर बार कहानी के किरदारों को आवाज।

                                             हर बार कहानी के किरदारों को आवाज।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात हम कहते रहते है एहसास कि धारा अलगसी मिलती है जो जीवन मे कई किस्सों को जज्बात अलगसी दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों कि पुकार अलग दिखलाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात हम बदलते रहते है तो जज्बात कि आँधी अलग दिशाए लाती है क्योंकि हर कहानी मे सच्चाई अलगसी ताकत दिखाती है वह जीवन मे कई रंगों को किरदार अलग दिखलाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात हम कहते रहते है तो एहसासों को अलग पहचान हर इशारे मे मिलती है जो जीवन मे कई आवाजों मे अलगसी आस हर पल जताती है जो जीवन मे उजाला लाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात के अंदर जज्बातों कि कहानियाँ जिन्दा होती है जो जीवन मे कई एहसासों कि दिशाए बदलकर अलग एहसास दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों का उजाला लाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात के संग जीवन मे कई खयालों कि आँधी नजर आती है जो जीवन मे कई एहसासों कि आवाज अलग अल्फाज के संग सुनाती है वह जीवन मे रोशनी का उजाला लाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात के साथ जीवन मे कई खयालों मे दिशाए हर धारा के संग अलगसा एहसास दिखाती है वह जीवन मे कई हवाओं को अलग आवाज कि पहचान जीवन का उजाला लाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात के संग जीवन मे कई राहों कि कहानी जज्बात दिलाती है जो जीवन मे कई रंगों को उम्मीदों कि पहचान हर इशारे मे जताती है वह दुनिया का उजाला लाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात के संग नयी सुबह मे कई रंगों कि पहचान जताती है वह हर किनारे को उजाला देने कि जरुरत होती है जो कई एहसासों को समझ देकर वह उम्मीद लाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात के साथ नयी पहचान मे किनारों को अलग विश्वास दिलाती है जो जीवन मे कई राहों को अलग दास्तान दिखाती है जो जीवन मे कई रंगों को एहसास अलगसा लाती है।
हर बार कहानी के किरदारों को आवाज अलगसी मिलती है जब बात के संग नयी आशाए बनती है हर किरदार कि पुकार अलग पहचान को रोशनी दिखाती है जिसे समझ लेने कि अहमियत हर कहानी को ताकत लाती है। 

Monday, 10 April 2017

कविता. १३४३. हर तलाश कि कोई बजह होती है।

                                              हर तलाश कि कोई बजह होती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो साँस को अलग आवाज देती है जो जीवन मे हर कदम को अलग किसम कि समझ हर मौके पर मिलती है वह हर बार जीवन मे कोई अलग पुकार बताती रहती है कोई अलग आवाज मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो साँस को अलग पहचान देती है जो जीवन मे हर अल्फाज को अलग किनारे कि प्यास हर इरादे पर मिलती है वह हर बार जीवन मे कोई अलग आवाज बताती रहती है कोई अलग पुकार मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो साँस को अलग एतबार देती है जो जीवन मे हर किस्से को अलग एहसास बताती है वह हर आवाज मे एक अलगसी तलाश कि पहचान दिखाती है क्योंकि हर एहसास मे नये सपने कि जरुरत मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो जीवन को अलग किनारों से उम्मीद देती है जो जीवन मे हर राह पर कोई उम्मीद दिखाकर आगे जाती है जो जीवन मे कई रंगों को अलग इरादे देकर जाती है जो जीवन मे कई रंगों को मन कि ताकत मे मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो जीवन मे अलग इशारों से रोशनी देती है जो जीवन मे कई एहसासों मे मतलब दिलाती है जिसमे पुकार देकर जाती है जो जीवन मे कई किस्सों को अलग किनारों से आगे लेकर चलती है जिसकी पहचान से उम्मीद  मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो जीवन मे अलग राहों पर हर बार लेकर जाती है वह हर इशारे को अलग नजारा हर पल के साथ दिलाती है वह हर मौके को अलग तरह कि आस दिखाकर चलती है जो हर उम्मीद मे मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो जीवन मे अलग इरादों पर हर मौका अक्सर देती है वह हर किस्से को एहसास कि आवाज बनाकर जीवन मे उम्मीद दिलाती है वह हर हवाओं के साथ उम्मीद मे चलती है जो हर इशारे मे मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो जीवन मे अलग कदमों पर हर इशारे को पुकार देती है वह हर खयाल को जज्बात कि पहचान हर मौके पर दिलाती है वह हर इशारे के संग दुनिया को अलग इशारा देकर चलती है वह हर आवाज के एहसासों मे मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो जीवन मे अलग किनारों पर हर बार नजारों को पुकार अलगसी देकर आगे बढती है वह हर आवाज को उम्मीद दिलाती है वह हर दिशाओं के संग अलगसा विश्वास देती है जिसमे दुनिया कि उम्मीदे मिलती है।
हर तलाश कि कोई बजह होती है जो जीवन मे अलग राहों पर हर बार इशारों को अलग पहचान मिलती है जो जीवन मे कई रंगों को एहसास का अलगसा उजाला दिलाती है वह हर एहसास को इतबार देती है जिसमे दुनिया कि राहों कि कहानी मिलती है। 

कविता. १३४२. हर लब्ज को समझ लेते है तो।

                                                    हर लब्ज को समझ लेते है तो।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई किनारों को अलग उजाला मिलता है जो लब्जों के सहारे से जीवन को आगे बढने कि उम्मीदे देता है जिसे हर राह पर समझ लेने कि जरुरत हर मकसद को अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई इशारों को अलग पहचान का इरादा मिलता है जो लब्जों को हर राह को हर लम्हा जिन्दगी देता है जिसे हर मोड पर समझ लेने कि जरुरत नयी दिशाओं को अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई एहसासों को अलग आवाज का इशारा मिलता है वह हर लब्ज के अंदर कई कहानियों के साथ उजाला देता है हर किस्से पर समझ लेने कि जरुरत एहसासों को उजाले को अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई रंगों को अलग पहचान का इरादा मिलता है वह हर खयाल को कई तरह के एहसास देता है हर इशारे पर समझ लेने कि जरुरत जाने क्यूँ मन को हर मौके पर अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई आवाजों को अलग एहसास का इशारा मिलता है जो हर आवाज को अलग किनारा देता है वह एहसासों को अलग किनारों से आगे लेकर चलती है वह मन कि उम्मीदों मे हर राह पर अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई किनारों को अलग इशारों के साथ नयी सुबह का एहसास मिलता है वह हर किनारे को अलग दुनिया के अंदाज के संग नया उजाला दिखाता रहता है उसकी जरुरत अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई उजालों को अलग इरादों के साथ नयी पहचान का इतबार मिलता है वह हर इशारे को अलग किनारे के साथ पहचान के लिए अलग उजाला हर मौके पर देता है उसमे अलग सोच अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई एहसासों को अलग उम्मीदों के साथ नयी रोशनी का इरादा मिलता है वह हर धारा को नये सुबह के साथ मुस्कान देने के लिए अलग पुकार हर पल को देता है उसमे अलग रोशनी अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई आवाजों को अलग एहसास के साथ नयी पहचान का इशारा मिलता है जो जीवन मे कई तराने लहरों के साथ आवाज को देता है हर पुकार जीवन कि हर साँस मे अक्सर रहती है।
हर लब्ज को समझ लेते है तो जीवन मे कई रंगों को अलग परख के साथ नयी रोशनी का इरादा मिलता है जो जीवन मे कई किनारों को पहचान के साथ अलग कहानी बताता है क्योंकि हर कहानी हर उम्मीद मे अक्सर रहती है। 

Sunday, 9 April 2017

कविता. १३४१. हर किस्से के संग अचानक।

                                                       हर किस्से के संग अचानक।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई आवाज अलगसी होती है जो जीवन मे कई एहसासों को पहचान अलग देकर चलती है वह हर किस्से को एहसासों के संग अलगसा विश्वास देती है जो जीवन मे उम्मीदे दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक दुनिया मे कोई पहचान अलगसी होती है जो जीवन मे कई रंगों को अलग उजाला देकर चलती है वह हर इशारे को एहसासों के संग अलगसा किनारा हर पल देती है जो जीवन मे ताकत दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई पुकार अलगसी होती है जो जीवन मे कई इरादों को अलग रोशनी देकर चलती है वह हर समझ को एहसासों के संग अलगसा इतबार देती है जो जीवन मे उजाला दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई समझ अलगसी होती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग पहचान देकर चलती है वह हर इशारे को समझकर दुनिया को आगे बढने कि उम्मीदे देती है जो जीवन मे पहचान दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई सुबह अलगसी होती है जो जीवन मे कई रंगों को अलग उजाले के साथ पहचान अलगसा दिखाती है जो जीवन मे कई कहानियों के साथ हर कदम के साथ उजाला दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई धारा अलगसी होती है जो जीवन मे कई राहों को उम्मीद अलगसी दिखाती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग पहचान मिलती है जो जीवन मे कई रंगों को मतलब दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई किरण अलगसी होती है जो जीवन मे कई इशारों को रोशनी हर मोड के साथ दिखाती है जो जीवन मे कई जज्बातों को अलग इशारे कि आवाज हर मौके के संग दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई मुस्कान अलगसी होती है जो जीवन मे कई रंगों को उजाला हर इशारे के साथ दिखाती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग पहचान कि पुकार हर मोड के संग दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई पहचान अलगसी होती है जो जीवन मे कई किनारों को अलग एहसास के साथ दिखाती है जो जीवन मे कई धाराओं को अलग एहसास कि रोशनी हर पल के संग दिलाती है।
हर किस्से के संग अचानक जीवन मे कोई उजाले कि पहचान अलगसी होती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग उजालों के साथ दिखाती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग किनारों के संग एक अलग एहसास दिलाती है। 

कविता. १३४०. हर धारा मे जीवन को कुछ।

                                                हर धारा मे जीवन को कुछ।
हर धारा मे जीवन को कुछ किस्सों मे समझ लेने कि जरुरत होती है जो मन को कई तरह के कोनों से अलग किसम कि समझ देती है जो जीवन मे हर किस्से को एहसास कि परख अलगसी होती है जो जीवन मे अलग किनारा दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग एहसासों से आगे बढने कि जरुरत होती है जो मन को हर हिस्से को समझ लेने कि जरुरत हर मौके पर रहती है जो जीवन मे हर धारा को एहसासों के संग अलग पहचान हर किस्से मे अक्सर दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग इशारों से आगे चलने कि जरुरत होती है जो मन को कई कहानियों के साथ नयी दुनिया देकर चलती है वह हर उम्मीद कि अलग धारा को अलग इरादा देकर जाती है वह नयी रोशनी दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग किनारे से आगे जाने कि जरुरत होती है जो मन को कई किस्सों के साथ नयी उजाले कि दुनिया देकर चलती है वह हर मौके कि कहानी अलग इशारों मे हर एहसासों के संग चलती है जो जीवन मे उम्मीद दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग इरादे से आगे बढने कि जरुरत होती है जो मन को कई इशारों के साथ बढती है वह हर खयाल को कई जज्बातों के साथ इरादे दिखाकर जाती है वह हर इशारे को जीवन मे कोई अलग किनारा दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग एहसास से आगे चलने कि जरुरत होती है जो मन को कई इशारों से कोई आवाज अलगसी देती है वह हर बहती धारा के संग अलगसा इतबार हर बार दिखाकर जाती है वह जीवन मे हर इशारे को अलग समझ दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग किनारे से आगे चलने कि अहमियत होती है जो मन को कई इशारों से उम्मीद देकर जाती है वह हर सोच को हर लब्ज के अंदर कोई अलग पुकार देती है जो जीवन मे कई रंगों को अलग रोशनी दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग इशारों से आगे बढने कि जरुरत होती है जो मन को कई किस्सों के एहसासों के साथ अलग पुकार कि कहानी हर पल मे देती रहती है जो जीवन मे कई इशारों से इरादे हर बार दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग किनारे से आगे जाने कि जरुरत होती है जो मन को कई इशारों को अलग एहसास कि पुकार हर मौके पर उम्मीदे देती रहती है जो जीवन मे कई रंगों को खयालों से हर बार उम्मीद दिलाती है।
हर धारा मे जीवन को कुछ अलग राहों से आगे बढती है जिनकी जरुरत जीवन मे हर राह पर होती है जो जीवन मे कई रंगों को एहसास अलगसा दिखाती है वह हर इशारे को समझकर दुनिया कि नयी रोशनी दिलाती है। 

Saturday, 8 April 2017

कविता. १३३९. हर उजाला जीवन मे।

                                                 हर उजाला जीवन मे।
हर उजाला जीवन मे ढूँढते रहने कि जरुरत हर पल मे होती है जो जीवन मे कई धाराओं के साथ एहसास अलगसा दिलाती है जो जीवन मे कई किस्सों को अलग रोशनी दिखाती है वह हर किनारे को रोशनी देकर जाती है।
हर उजाला जीवन मे समझ लेने कि जरुरत हर मौके मे होती है जो जीवन मे कई रंगों के साथ नये परख को हर किस्से के संग पहचान लेती है वह अलग मतलब दिखाती है वह हर बार जीवन को कई किनारे दे जाती है।
हर उजाला जीवन मे परख लेने कि जरुरत हर किनारे मे होती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग इशारों के साथ रोशनी दिलाती है वह हर इशारे मे कोई अलग किनारा देकर आगे बढती है वह दुनिया को अलग एहसास दे जाती है।
हर उजाला जीवन मे आवाज को समझ लेने कि जरुरत हर मकसद मे होती है जो जीवन मे कई लम्हों को अलग आवाज दिलाती है वह हर किस्से मे कोई पहचान को एहसास अलगसा दिलाती है वह हवाओं मे कोई अलग किनारा दे जाती है।
हर उजाला जीवन मे कहानियों को परख लेने कि जरुरत हर मौके मे होती है जो जीवन मे कई एहसासों को अलग मकसद दिलाती है वह हर इशारे मे छुपी हुई है वह हर किस्से को समझकर दुनिया को आगे किनारों को उजाले दे जाती है।
हर उजाला जीवन मे पहचान को समझ लेने कि जरुरत हर साँस मे देता है जिसकी जरुरत होती है वह जीवन मे कई रंगों कि पहचान अलग दिलाती है वह हर इशारे को हर राह को हर लम्हा रोशनी दिलाकर हर कदम दे जाती है।
हर उजाला जीवन मे इरादों को समझ लेने कि जरुरत हर मौके मे देता है जो जीवन मे हर किस्से कि कहानी हर किरदार के साथ अलग सौगाद दिलाती है वह हर मौके को हर लम्हा जिन्दा रखती है वह जीवन मे अलग सतरंगी दुनिया दे जाती है।
हर उजाला जीवन मे आशाओं को समझ लेने कि जरुरत हर मकसद मे देता है जो जीवन मे हर कदम कि परख हर एहसास के साथ अलग सौगाद दिलाती है वह हर एहसास को हर इशारे के साथ रखती है वह जीवन मे अलग एहसास दे जाती है।
हर उजाला जीवन मे खयालों को समझ लेने कि जरुरत हर सोच मे देता है जो जीवन मे हर किस्से कि आवाज ऐसी सुनाता है जिसकी समझ अलग एहसास दिलाती है वह हर लम्हा कई दिशाए दिलाकर चलती है वह हर मौके पर रोशनी दे जाती है।
हर उजाला जीवन मे एहसासों को समझ लेने कि जरुरत हर पल मे देता है जो जीवन मे हर किस्से कि आवाज को मकसद हर पल दिलाती है वह हर मोड को कई एहसासों से उजागर करती है जो जीवन मे कई रंगों कि ताकत हर पल दे जाती है।